Shah Times

HomeControversyवाह रे सरकार : यह कैसा इंसाफ1948 में पाकिस्तान के छक्के छुड़ाने...

वाह रे सरकार : यह कैसा इंसाफ1948 में पाकिस्तान के छक्के छुड़ाने वाला सैनिक इनाम में मिली भूमि से अब तक है महरूम

Published on

75 साल बाद भी सरकार नहीं दिला पा रही सैनिक के परिवार को कब्जा ,परिजनो मे छलक रहा माननीय के प्रति रोष

टनकपुर/आबिद सिद्दीकी,(Shah Times)। अदम्य साहस के लिए राष्ट्रपति द्वारा वीर चक्र से नवाजे गए वीर चक्र विजेता सैनिक स्वर्गीय चंद्री चंद को दान में दी गई जमीन पर सरकार आज तक भी कब्जा नहीं दिला पाई है। हालांकि इनाम में मिली भूमि के लिए सैनिक के परिजन अब तक कई बार गुहार लगा चुके हैं। लेकिन वीर चक्र विजेता की मौत के बाद भी परिजनों की लड़ाई किसी नतीजे पर नहीं पहुंच सकी।जिसके चलते सैनिक के परिजनों में माननीयो के प्रति खासा रोष है

जानकारी के मुताबिक टनकपुर के आमबाग निवासी सूबेदार चंद्री चंद ने आजादी के फौरन बाद 1948 में पाकिस्तान द्वारा कश्मीर से किए गए हमले में जबर्दस्त बहादुरी दिखाई थी। अदम्य साहस के लिए पहले राष्ट्रपति डॉ. राजेंद्र प्रसाद ने उन्हें 1950 में उन्हें वीर चक्र से नवाजा था। 1978 में उप्र सरकार ने छह अन्य पूर्व फौजियों के साथ चंद्री चंद को खटीमा तहसील के बिल्हेरी गांव में 20 बीघा जमीन पुरस्कार में दी थी। पट्टे के साथ ही भूमि के खाता खतौनी भी दिए गए, मगर दान में दी गई जमीन आज तक उनके परिजनों को नहीं मिल सकी है। नवंबर 2007 में आखिरी सांस लेने से पूर्व तक वे जिंदगीभर इनाम की जमीन के लिए सरकारों से लड़ते रहे।

Shah Times Haldwani 12 May 24

वीर चक्र विजेता चंद्री चंद के बेटे किशन चंद बताते हैं कि जमीन न मिलने की वजह शासन द्वारा आवंटित जमीन पर पहले से ही लोगों का कब्जा होना था। जिसे प्रशासनिक अमला कभी छुड़ा नहीं सका। इस जमीन को हासिल करने के लिए उन्होंने प्रशासनिक अफसरों से लेकर राष्ट्रपति तक से फरियाद की, पर जमीन नहीं मिली। युद्ध में दुश्मनों के दांत खट्टे करने वाला योद्धा अपनों से नहीं जीत सका। बहादुर कारनामे के लिए सरकार द्वारा दान दी गई जमीन को हासिल करने में यह जांबाज सैनिक और उनके परिजन हार गए हैं।
वीर चक्र विजेता श्री चंद के परिवार में दो बेटे हैं छोटा बेटा फौज में सेवा कर रहा है, तो दूसरा बेटा किशन कृषि कार्यकर अपनी आजीविका चला रहा है।

Latest articles

भोपा थाना क्षेत्रान्तर्गत गाँव छछरौली में देव स्थान खण्डित होने से भड़का रोष,शरारती तत्वों द्वारा शांति भंग का प्रयास

शरारती तत्वों द्वारा गाँव स्थित भूमिया खेड़ा में देवस्थान खण्डित कर शान्ति भंग करने...

इमारत में आग लगने से 14 की मौत

वीएनएक्सप्रेस की रिपोर्ट के मुताबिक ट्रुंग किन्ह स्ट्रीट से लगभग 200 मीटर दूर 100...

वेलकम टू द जंगल : माचो हीरो जैकी श्राफ की एंट्री

बॉलीवुड में चर्चा है कि संजय दत्त ने 'वेलकम टू द जंगल'से किनारा कर...

बॉलीवुड में कृति सैनन का 10 साल सफर

कृति सैनन ने इंस्टाग्राम अकाउंट पर एक वीडियो शेयर किया है।कृति सैनन ने कैप्शन...

Latest Update

भोपा थाना क्षेत्रान्तर्गत गाँव छछरौली में देव स्थान खण्डित होने से भड़का रोष,शरारती तत्वों द्वारा शांति भंग का प्रयास

शरारती तत्वों द्वारा गाँव स्थित भूमिया खेड़ा में देवस्थान खण्डित कर शान्ति भंग करने...

इमारत में आग लगने से 14 की मौत

वीएनएक्सप्रेस की रिपोर्ट के मुताबिक ट्रुंग किन्ह स्ट्रीट से लगभग 200 मीटर दूर 100...

वेलकम टू द जंगल : माचो हीरो जैकी श्राफ की एंट्री

बॉलीवुड में चर्चा है कि संजय दत्त ने 'वेलकम टू द जंगल'से किनारा कर...

बॉलीवुड में कृति सैनन का 10 साल सफर

कृति सैनन ने इंस्टाग्राम अकाउंट पर एक वीडियो शेयर किया है।कृति सैनन ने कैप्शन...

अमेरिका-ब्रिटेन एलायंस फोर्स का यमन के हवाई अड्डे पर हवाई हमला

अल-मसीरा टीवी ने अपनी रिपोर्ट में यह जानकारी दी। गठबंधन बल ने कथित हवाई...

धोखेबाज एजेंट से बचाए गए 60 भारतीय स्वदेश लौटे

भारतीय दूतावास ने ‘एक्स’ पर पोस्ट किया, ''विदेश में भारतीयों की मदद के लिए...

केदारनाथ में तीर्थयात्रियों के हेलिकॉप्टर की इमरजेंसी लेंडिंग

केस्ट्रेल एविएशन कंपनी के हेलिकॉप्टर में कुछ तकनीकी समस्या आ जाने के कारण इसे...

गौ तस्करों की पुलिस से मुठभेड़, दो ज़ख्मी

  पुलिस सूत्रों के मुताबिक तस्कर 22 मई की देर रात में इसी मीठी बेरी...

जुबां पर बरेली का नाम आते ही आ जाती है झुमके की याद

दुनिया भर में मशहूर है बरेली की दरगाह आला हजरत। बरेली मो० इरफान, (ShahTimes)।...
error: Content is protected !!