योगी का कोविड मैनेजमेंट

ShahTimesNews
Image Credit: ShahTimesNews

राजनीति करने वाले सभी चीजें सियासत के चश्मे से देखते हैं। संभवतः यही कारण रहा कि उत्तर प्रदेश में विपक्षी राजनीतिक दलों ने कोविड-19 की दूसरी लहर की तस्वीर भयावहता से प्रस्तुत की। इसमें कोई संदेह नहीं कि कोरोना की दूसरी लहर ने पूरे देश में तबाही मचायी, लोगों की आंखों से आंसू सूख गये लेकिन कोरोना के संक्रमण को रोकने का प्रयास भी उल्लेखनीय तरीके से हुआ है। अभी गत 15 सितम्बर को आस्ट्रेलिया के मंत्री जेसन वुड ने उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के कोविड-19 प्रबंधन की सराहना की है। इससे पहले आस्ट्रेलिया के सांसद क्रेग कैली भी योगी सरकार की तारीफ कर चुके हैं। आस्ट्रेलिया के इन जनप्रतिनिधियों की टिप्पणी सियासत के नजदीक तक नहीं है। उत्तर प्रदेश मंे योगी आदित्यनाथ स्वयं गांव-गांव गये और लोगों से कोरोना उपचार के बारे में जानकारी ली। इसी का नतीजा है कि अब प्रदेश के 60 जिलों मंे एक भी कोरोना पाॅजिटिव मरीज नहीं हैं और 14 करोड़ से ऊपर लोगों को कोरोना की दोनों वैक्सीन लग चुकी है।

 

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के कोरोना प्रबंधन के मुरीद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ही नहीं हैं। मुख्यमंत्री के कोरोना मैनेजमेंट की चर्चा विदेशों में भी हो रही है। ऑस्ट्रेलियाई सांसद क्रेग कैली के बाद अब आस्ट्रेलिया सरकार में मंत्री जेसन वुड  ने कोविड प्रबंधन को लेकर मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की तारिफ की है। मंत्री जेसन वुड कोविड प्रबंधन पर उत्तर प्रदेश सरकार के साथ काम करने को लेकर उत्सुक हैं।

 

जेसन वुड ने ट्वीट कर लिखा कि ‘हम उत्तर प्रदेश के साथ काम करने के लिए उत्सुक हैं। संस्कृति और विकास के संवर्धन के लिए हम लोग उत्तर प्रदेश सरकार के साथ काम करेंगे।’ कोविड 19 प्रबंधन के लिए योगी के यूपी मॉडल से प्रेरित होकर उन्होंने आगे लिखा कि ‘सीएम योगी को धन्यवाद। यूपी के सीएम योगी आदित्यनाथ ने मुझे अपना संदेश दिया। इस कठिन समय में उत्तर प्रदेश सरकार के कोविड नियंत्रण प्रयासों की तो सभी लोग सराहना करें।’

 

गौरतलब है कि 24 करोड़ की आबादी वाले उत्तर प्रदेश में कोरोना की दूसरी लहर को काबू करने के लिए मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने ट्रिपल ‘टी’ यानी ट्रैक, टेस्ट एंड ट्रीट फॉर्मूला दिया था। इसी फॉर्मूले की वजह से कोरोना महामारी पर प्रभावी नियंत्रण पाया जा सका। यही वजह है कि इन पंक्तियांे के लिखे जाने तक पिछले 24 घंटों में प्रदेश के 32 जिलों में कोरोना संक्रमण का एक भी मामला सामने नहीं आया है जबकि 59 जिलों में संक्रमण का कोई भी नया मामला सामने नहीं आया है। कोरोना संक्रमण पर लगाम लगाने के लिए प्रदेश सरकार की नीतियों को मुम्बई हाईकोर्ट, सुप्रीमकोर्ट, डब्ल्यूएचओ ने भी सराहा है। देश में कोरोना संक्रमण की दूसरी लहर पर प्रभावी नियंत्रण बना हुआ है। इसके साथ-साथ जनजीवन भी तेजी से सामान्य हो रहा है। प्रदेश में एक्टिव केसों की संख्या के साथ ही मृत्यु दर में भी भारी कमी आई है। सरकार द्वारा जारी आंकड़ों के मुताबिक, बीते 24 घंटे में 33 नए मरीजों की पुष्टि हुई। इसी अवधि में 25 मरीज स्वस्थ होकर डिस्चार्ज हुए। प्रदेश में अब तक 16 लाख 86 हजार 522 प्रदेशवासी कोरोना संक्रमण से मुक्त होकर स्वस्थ हो चुके हैं। वर्तमान में प्रदेश में एक्टिव कोविड केस की संख्या 181 है। इन सभी संक्रमितों का उपचार हो रहा है। बीते 24 घंटे में 01 लाख 91 हजार 446 सैंपल की टेस्टिंग हुई है। वहीं, अब तक कुल 07 करोड़ 53 लाख 18 हजार 532 कोविड सैंपल की जांच की जा चुकी है। प्रदेश में पॉजिटिविटी दर 0.01 फीसदी से आधी हो गई है जबकि रिकवरी दर 98.7 फीसदी है। 

 

बीते 24 घंटे में हुई कोविड टेस्टिंग में 60 जिलों में संक्रमण का कोई भी नया केस नहीं मिला। केवल 16 जनपदों में ही नए मरीज मिले। प्रदेश के 32 जिलों में कोविड का एक भी एक्टिव केस नहीं है। अलीगढ़, अमरोहा, अयोध्या, बलिया, बलरामपुर, बांदा, बस्ती, बहराइच, भदोही, बिजनौर, बुलंदशहर, चंदौली, चित्रकूट, एटा, फतेहपुर, गोंडा, हमीरपुर, हरदोई, हाथरस, कानपुर देहात, कासगंज, महोबा, मुरादाबाद, पीलीभीत, प्रतापगढ़, रामपुर, सहारनपुर, शामली, श्रावस्ती, सिद्धार्थ नगर, सुल्तानपुर और सोनभद्र में कोविड का एक भी मरीज शेष नहीं है। ये जनपद आज कोविड फ्री हैं। यूपी में बीते 24 घंटों में 17 लाख 19 हजार 279 लोगों ने कोविड टीकाकवर प्राप्त किया। गत 13 सितम्बर तक पहली खुराक लेने वालों की संख्या 07 करोड़ 36 लाख से अधिक हो गई जबकि दोनों डोज प्राप्त करने वालों की संख्या डेढ़ करोड़ के पार होने वाली थी। वहीं, प्रदेश में कुल कोविड वैक्सीनेशन 08 करोड़ 86 लाख से अधिक हो गया है। यह किसी एक राज्य में हुआ सर्वाधिक टीकाकरण है। कोरोना की दूसरी लहर पर उत्तर प्रदेश में प्रभावी नियंत्रण बना हुआ है। बीते 24 घंटे में 2 लाख 17 हजार 109 कोविड सैम्पल की जांच की गई, जिसमें 26 नए मरीजों की पुष्टि हुई है। जबकि इसी अवधि में  45 मरीज स्वस्थ होकर डिस्चार्ज हुए हैं। इस दौरान दो लोगों की मौत हुई है। प्रदेश में एक्टिव कोविड केस की संख्या 299  रह गई है जिनमें से 215 लोग होम आइसोलेशन में हैं। 

 

वैक्सनेशन के मामले में 27 अगस्त तक उत्तर प्रदेश ने नया कीर्तिमान स्थापित किया। यूपी में एक ही दिन कुल 30 लाख 680 डोज लगाई गई। केंद्र सरकार ने अगस्त में 1 करोड़ डोज रोजाना लगाने का टारगेट रखा था जिसे 27 अगस्त को पूरा कर लिया गया। भारत में वैक्सीन की कमी की खबरों के बीच एक करोड़ डोज लगाना एक बड़ा कीर्तिमान है। केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय के मुताबिक देश में 14 करोड़ से ज्यादा लोग ऐसे हैं, जिन्होंने दोनों डोज लगवा ली हैं। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने  कोविड प्रबंधन के लिए गठित टीम 9 के अधिकारियों के साथ बैठक की जिसमें उन्होंने सीएम हेल्पलाइन 1076 के जरिए रोजाना 100 वृद्धजनों का फोन कर हालचाल लेने के निर्देश दिए। साथ ही उनके स्वास्थ्य और अन्य जरूरतों के बारे में पूछते हुए उनकी समस्याओं का समाधान कराएं। वे स्वयं गांव-गांव गये थे।

 

सीएम योगी ने कहा कि वरिष्ठ नागरिकों को त्वरित सहायता के लिए संचालित किए जा रहे हेल्पलाइन नम्बर 14567 सेवा को और बेहतर किये जाने की जरूरत है। साथ ही सीएम हेल्पलाइन 1076 के माध्यम से भी हर दिन न्यूनतम 100 वृद्धजनों को फोनकर उनके स्वास्थ्य के संबंध में जानकारी ली जाए, उनकी अन्य जरूरतों के बारे में पूछते हुए उनकी समस्याओं का समाधान कराएं।  कैंसर की समस्या से ग्रस्त या डायलिसिस कराने वाले मरीजों के इलाज में कतई देरी नहीं की जानी चाहिए। मुख्यमंत्री ने कहा कि लोगों को बेहतर स्वास्थ्य सुविधाएं उपलब्ध कराने के लिए सीएचसी/पीएचसी स्तर पर हेल्थ एटीएम की स्थापना कराई जाए। कई औद्योगिक समूहों/सामाजिक संस्थाओं ने हेल्थ एटीएम उपलब्ध कराने की इच्छा जताई है। ऐसे सभी लोगों से संपर्क कर सहयोग प्राप्त किया जाए। इसे नजदीकी जिला अस्पताल की टेलीकन्सल्टेशन सेवा से भी जोड़ा जाए। हेल्थ एटीएम के सुचारू संचालन के लिए पैरामेडिक्स का प्रशिक्षण कर तैनाती की जाए। 

 

प्रदेश में एक्टिव कोविड केस की संख्या 857 रह गई है। प्रदेश में हर दिन ढाई लाख से तीन लाख टेस्ट हो रहें हैं, जबकि पॉजिटिविटी दर 0।01 फीसदी तक आ गई है। अलीगढ़, बदायूं, बस्ती, बहराइच एटा, फतेहपुर, हमीरपुर, हाथरस, कसगंज, महोबा और श्रावस्ती में अब कोविड का एक भी मरीज शेष नहीं है।  यह जनपद आज कोविड संक्रमण से मुक्त हैं। इसलिए योगी के कोरोना प्रबंधन की तारीफ हो रही है।

Shah Times is a Daily Newspaper & Website brings the Latest News & Breaking News Headlines from India & around the World. Read Latest News Today on Sports, Business, Health & Fitness, Bollywood & Entertainment, Blogs & Opinions from leading columnists.
View all posts

Leave a Reply