स्वास्थ्य के क्षेत्र में अग्रणी कदम देश बाईस AIIMS के सशक्त नेटवर्क की तरफ बढ़ रहा है

ShahTimesNews
Image Credit: ShahTimesNews

कोलकाता  प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने शुक्रवार को कहा कि देश में चिकित्सा महाविद्यालयों में आज करीब कुल डेढ़ लाख सीटों में 66 प्रतिशत संख्या पिछले सात साल में जुड़ी है। प्रधानमंत्री मोदी वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से कोलकाता में चितरंजन राष्ट्रीय कैंसर संस्थान (सीएनसीआई) के दूसरे परिसर का उद्घाटन करते हुए यह बात कही।


 मोदी ने कहा 2014 तक देश में चिकित्सा की स्नातक और स्नातकोत्तर पढ़ाई की सीटों की संख्या 90 हज़ार के आसपास थी। पिछले सात वर्षों में इनमें 60 हज़ार (66 प्रतिशत) नई सीटें जोड़ी गई हैं। उन्होंने कहा, “वर्ष 2014 में हमारे यहां सिर्फ छह अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान (एम्स) होते थे। आज देश 22 एम्स के सशक्त नेटवर्क की तरफ बढ़ रहा है।”


सीएनसीआई के दूसरे परिसर का 530 करोड़ रुपये से अधिक की लागत से निर्माण किया गया है। इसके लिए लगभग 400 करोड़ रुपये केंद्र सरकार ने अनुदान दिया है। यह परिसर 460 बिस्तरों की इकाई है। यह परिसर एक उन्नत कैंसर अनुसंधान सुविधा के रूप में भी काम करेगा और विशेष रूप से देश के पूर्वी और उत्तर-पूर्वी भागों के कैंसर रोगियों को व्यापक देखभाल की सुविधा प्रदान करेगा।


इस कार्यक्रम में पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी भी शामिल थीं।
प्रधानमंत्री ने देश भर में आम लोगों के लिए स्वास्थ्य सुविधाओं के विस्तार के लिए सरकार द्वारा किए जा रही सरकार की पहलों का उल्लेख करते हुए कहा कि आयुष्मान भारत योजना आज एक सस्ती और समावेशी योजना के रूप में दुनिया के लिए एक आदर्श है।


उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री जन-आरोग्य योजना के तहत देशभर में दो करोड़ 60 लाख से ज्यादा मरीज, अस्पतालों में अपना मुफ्त इलाज करा चुके हैं।


 मोदी ने कहा कि कैंसर की बीमारी तो ऐसी है जिसका नाम सुनते ही गरीब और मध्यम वर्ग हिम्मत हारने लगता था। गरीब को इसी कुचक्र, इसी चिंता से बाहर निकालने के लिए देश सस्ते और सुलभ इलाज के लिए निरंतर कदम उठा रहा है।
प्रधानमंत्री ने कहा बीते सालों में कैंसर की जरूरी दवाओं की कीमतों में काफी कमी की गई है। उन्होंने यह भी कहा कि सरकार द्वारा अब तक पश्चिम बंगाल को भी कोरोना वैक्सीन की करीब-करीब 11 करोड़ डोज मुफ्त मुहैया कराई जा चुकी है। बंगाल को डेढ़ हजार से अधिक वेंटिलेटर, नौ हजार से ज्यादा नए ऑक्सीजन सिलेंडर भी दिए गए हैं। प्रदेश में नए 49 पीएसए नए ऑक्सीजन संयंत्र भी शुरू कर दिए गए हैं।
कोविड टीकाकरण अभियान में प्रगति की जानकारी देते हुए श्री मोदी ने कहा आज भारत की वयस्क जनसंख्या में से 90 प्रतिशत से ज्यादा लोगों को वैक्सीन की एक डोज लग चुकी है। सिर्फ पांच दिन के भीतर ही डेढ़ करोड़ से ज्यादा बच्चों को भी वैक्सीन की डोज लगाई जा चुकी है।
उन्होंने कहा, ‘‘यह उपलब्धि पूरे देश की है, हर सरकार की है। मैं विशेष रूप से इस उपलब्धि के लिए देश के वैज्ञानिकों का, वैक्सीन मैन्यूफैक्चरर्स का, हमारे हेल्थ सेक्टर से जुड़े साथियों का धन्यवाद करता हूं।’’ उन्होंने कहा कि कि सबके प्रयासों से ही देश ने उस संकल्प को शिखर तक पहुंचाया है, जिसकी शुरुआत हमने शून्य से की थी।
प्रधानमंत्री ने कहा साल की शुरुआत देश ने 15 से 18 साल की उम्र के बच्चों के लिए वैक्सीनेशन से की है। नए वर्ष के पहले महीने के पहले हफ्ते में ही, भारत 150 करोड़ वैक्सीन डोज़ लगाने का ऐतिहासिक मुकाम भी हासिल कर रहा है।

Shah Times is a Daily Newspaper & Website brings the Latest News & Breaking News Headlines from India & around the World. Read Latest News Today on Sports, Business, Health & Fitness, Bollywood & Entertainment, Blogs & Opinions from leading columnists.
View all posts

Leave a Reply