सरकार पारदर्शी तरीके से भर्ती प्रक्रिया को आगे बढ़ा रही है

ShahTimesNews
Image Credit: ShahTimesNews

लखनऊ   उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि उनकी सरकार पारदर्शी तरीके से भर्ती प्रक्रिया को आगे बढ़ा रही है और सरकार की नीयत और ईमानदारी पर कोई अंगुली नहीं उठा सकता।


नवचयनित 130 आबकारी निरीक्षकों को नियुक्ति पत्र वितरित करने के मौके पर श्री योगी ने बुधवार को कहा कि यूपी लोक सेवा आयोग स्वायत्तशासी है और सरकार उसमें कोई हस्तक्षेप नहीं करती। युवाओं को अब नौकरी के लिये किसी सिफारिश की जरूरत नहीं है। सरकार अधिक से अधिक नौकरियों का सृजन करने का काम कर रही है।


उन्होने कहा कि 2002 से 2017 तक जितनी भर्तियां हुई है,उससे ज्यादा भर्तियां 2017 के बाद से अब तक हुई है। सरकार की भर्ती प्रक्रिया में कहीं कोई खोट नहीं इमानदारी में कोई संदेह नहीं है और इस पर कोई उंगली नहीं उठा सकता। पहले नियुक्ति निकलने पर कुछ लोगों की अपनी प्रक्रिया प्रारंभ हो जाती थी मगर अब भ्रष्टाचारियों के वसूली के अड्डे और ठेके बंद हो गए है। सरकार ने बड़े पैमाने पर ऐसे भ्रष्टाचारियों को जेल में डाला और उनकी संपत्ति जब्त की। दरअसल, पूर्ववर्ती सरकार के कार्यकाल में शुचिता और ईमानदारी का अभाव था। उस दौरान जातिवाद क्षेत्रवाद और पता नहीं क्या-क्या प्रभावी रहता था। पिछले 4 सालों में सभी प्रकार की विघ्न बाधाओं को दूर किया गया। सभी आयोगों को संदेश दिया गया कि किसी भी भर्ती में पारदर्शिता होनी चाहिए। गलत करने वालों के लिए सरकार की तलवार हमेशा लटकती है।


 योगी ने कहा कि युवाओं के सर्वाधिक संख्या उत्तर प्रदेश में है और सरकार की मंशा है कि युवाओं का लाभ देश और प्रदेश को मिले। पिछले साढ़े चार साल में एक करोड़ 61 लाख युवाओं को नौकरी और रोजगार से जोड़ने में सफलता मिली है। नवनियुक्त आबकारी निरीक्षकों से कहा “आपकी कार्यपद्धती आपका आचरण और आपका व्यवहार अच्छा रहे यही अपेक्षा रहती है। कानून की व्यवस्था के विरुद्ध और किसी जीवन को खतरे में डालने वाला कोई काम ना हो।


आपको किसी भी स्तर पर किसी सिफारिश की जरूरत नहीं पड़ी होगी।”
उन्होने कहा कि सरकार की व्यवस्था अनुशासन और परिश्रम से चलती है। सरकार का काम जनता की सेवा करना है। हम जनता के मालिक नहीं है जनता हमारी मालिक है। जनता का टैक्स राजस्व के रूप में एकत्र होता है। हमारे मालिकों के साथ कहीं कोई अन्याय नहीं होना चाहिए। आम जनमानस के साथ कहीं कोई दुर्व्यवहार उत्पीड़न ना हो।
कहीं कोई निर्दोष व्यक्ति शासकीय प्रताड़ना का शिकार ना बने। किसी को भी गलत करने की छूट नहीं दी जा सकती।


 योगी ने कहा कि उनकी सरकार बेसिक शिक्षा परिषद के शिक्षकों को भी नियुक्ति पत्र देने जा रही है। दिसंबर तक 50,000 और नौजवानों को नौकरी मिलेगी।


उन्होने कहा कि पहले सत्ता के संरक्षण में पलने वाले गिद्धों से नौकरियां सुरक्षित नहीं थी। आज ईमानदारी और सुचिता के साथ भर्ती प्रक्रिया पूरी हो रही। पहले प्रदेश का वसूली गैंग युवाओं को बहकाता था जबकि आज उनका सफाया हो चुका है। उन्होने चेतावनी भरे लहजे में कहा कि ट्रांसफर पोस्टिंग में कोई सिफारिश मत कराइएगा। ट्रांसफर भी पोर्टल के जरिए मेरिट बेस होना चाहिए।

Shah Times is a Daily Newspaper & Website brings the Latest News & Breaking News Headlines from India & around the World. Read Latest News Today on Sports, Business, Health & Fitness, Bollywood & Entertainment, Blogs & Opinions from leading columnists.
View all posts

Leave a Reply