वर्ल्ड में सबसे तेज इंडिया,सिर्फ़ 92 दिनों में 12 करोड़ लोगों को वैक्सीनेशन

ShahTimesNews
Image Credit: ShahTimesNews

नई दिल्ली दुनिया के सबसे बड़े टीकाकरण अभियान के अंग के रूप में, देश में कोविड-19 वैक्सीन खुराक के संचयी आंकड़े ने आज 12 करोड़ की संख्या को पार कर लिया है।

आज सुबह 7 बजे तक अनंतिम रिपोर्ट के अनुसार, 18,15,325 सत्रों के माध्यम से कुल 12,26,22,590 वैक्सीन की खुराक दी गईं। इनमें 91,28,146 एचसीडब्ल्यू शामिल हैं जिन्होंने पहली खुराक ली और 57,08,223 एचसीडब्ल्यू जिन्होंने दूसरी खुराक ली, 1,12,33,415 एफएलडब्ल्यू ने (पहली खुराक) ली जबकि 55,10,238 एफएलडब्ल्यू (दूसरी खुराक) ली। 60 वर्ष से अधिक आयु के पहली खुराक के लाभार्थी 4,55,94,522 और दूसरी खुराक के लाभार्थी 38,91,294 हैं। 45 से 60 वर्ष की आयु के पहली खुराक के लाभार्थी 4,04,74,993 है और दूसरी खुराक के लाभार्थी 10,81,759 हैं।

 

एचसीडब्ल्यू

एफएलडब्ल्यू

45 से 60 वर्ष की आयु

60 वर्ष से अधिक आयु

 

कुल

पहली खुराक

दूसरी खुराक

पहली खुराक

दूसरी खुराक

पहली खुराक

दूसरी खुराक

पहली खुराक

दूसरी खुराक

91,28,146

57,08,223

1,12,33,415

55,10,238

4,04,74,993

10,81,759

4,55,94,522

38,91,294

12,26,22,590

 

देश में अब तक दी गई कुल खुराक का 59.5 प्रतिशत आठ राज्यों से है। चार राज्यों गुजरात (1,03,37,448), महाराष्ट्र (1,21,39,453), राजस्थान (1,06,98,771) और उत्तरप्रदेश (1,07,12,739) ने अपने अपने-अपने राज्य में अब तक 1-1 करोड़ से अधिक लोगों का टीकाकरण हुआ है। गुजरात ने 16 अप्रैल को 1 करोड़ लोगों का टीकाकरण अभियान पूरा किया जबकि अन्य तीन राज्यों ने इसे 14 अप्रैल को हासिल किया।

भारत को 12 करोड़ टीकाकरण तक पहुंचने में केवल 92 दिन लगे और इस दिशा में भारत दुनिया का सबसे तेज देश बन चुका है। इसके बाद अमेरिका है जिसने 97 दिन में और फिर चीन ने (108 दिन) का समय लिया है।

 

पिछले 24 घंटों में 26 लाख से अधिक लोगों का टीकाकरण किया गया।

टीकाकरण अभियान (17 अप्रैल2021) के 92वें दिन के अनुसारवैक्सीन की कुल 26,84,956 खुराक दी गईं। 39,998 सत्रों में 20,22,599 लाभार्थियों को पहली खुराक के लिए टीका लगाया गया था और 6,62,357 लाभार्थियों को दूसरी खुराक के लिए टीका लगाया गया।

 

दिनाँक: 17 अप्रैल, 2021 (दिवस-92)

एचसीडब्ल्यू

एफएलडब्ल्यू

45 से 60 वर्ष की आयु

60 वर्ष से अधिक आयु

कुल उपलब्धि

पहली खुराक

दूसरी खुराक

पहली खुराक

दूसरी खुराक

पहली खुराक

दूसरी खुराक

पहली खुराक

दूसरी खुराक

पहली खुराक

दूसरी खुराक

22,717

37,405

89,353

1,01,666

12,51,018

1,20,249

6,59,511

4,03,037

20,22,599

6,62,357

 

भारत के नए मामलों में प्रतिदिन वृद्धि दर्ज की जा रही है, पिछले 24 घंटों में 2,61,500 नए मामले दर्ज किए गए हैं।

महाराष्ट्रउत्तर प्रदेशदिल्लीछत्तीसगढ़कर्नाटकमध्य प्रदेशकेरलगुजराततमिलनाडु और राजस्थान सहित दस राज्यों में नए मामलों का 78.56 प्रतिशत दर्ज किया गया है।

महाराष्ट्र में सबसे अधिक दैनिक नए मामले 67,123 दर्ज किए गए हैं। इसके बाद उत्तर प्रदेश में 27,334 और दिल्ली में 24,375 नए मामले सामने आए हैं।

 

सोलह राज्यों, जैसा कि नीचे दिखाया गया है, दैनिक नए मामलों में वृद्धि का प्रक्षेपवक्र प्रदर्शित कर रहे हैं।

 

 

 

 

नीचे दिया गया ग्राफ भारत में दैनिक जाँच और दैनिक पुष्टि दर को दर्शाता है। पिछले 12 दिनों में दैनिक पुष्टि दर 8 प्रतिशत से 16.69 प्रतिशत हो गई है।

 

पिछले एक महीने में राष्ट्रीय साप्ताहिक पुष्टि दर 3.05 प्रतिशत से बढ़कर 13.54 बढ़कर हो गई है। अन्य राज्यों की तुलना में छत्तीसगढ़ में 30.38 प्रतिशत उच्चतम साप्ताहिक पुष्टि दर दर्ज की गई।

 

 

भारत में कुल सक्रिय मामलो की संख्या 18,01,316 तक पहुंच गयी है। यह अब देश के कुल पुष्टि वाले मामलों का 12.18 प्रतिशत है। पिछले 24 घंटों में कुल सक्रिय मामलों में 1,21,576 मामले दर्ज किए गए हैं।

पांच राज्यों महाराष्ट्रछत्तीसगढ़उत्तर प्रदेशकर्नाटक और केरल से भारत के कुल सक्रिय मामलों का 65.02 प्रतिशत है। देश के कुल सक्रिय मामलों में अकेले महाराष्ट्र का योगदान 38.09 प्रतिशत है।

भारत में कुल स्वस्थ होने वाले मामले आज 1,28,09,643 है। राष्ट्रीय रिकवरी दर 86.62 प्रतिशत है।

पिछले 24 घंटों में 1,38,423 रिकवरी दर्ज की गई है।

पिछले 24 घंटों में 1,501 मृत्यु दर्ज हुईं हैं।

दस राज्यों में नई मृत्यु का प्रतिशत 82.94 है। महाराष्ट्र में अधिकतम मृत्यु (419) दर्ज की गईं जबकि दिल्ली में दैनिक 167 मृत्यु दर्ज की गईं हैं।

 

पिछले 24 घंटों में नौ राज्यों/केंद्र शासित प्रदेशों से किसी की भी कोविड-19 के कारण मृत्यु की सूचना नहीं है। इन राज्यों में दमन एवं दीव और दादर एवं नागर हवेली, मेघालय, त्रिपुरा, सिक्किम, मिजोरम, मणिपुर, लक्षद्वीप, नागालैंड और अरुणाचल प्रदेश हैं।

***

I think all aspiring and professional writers out there will agree when I say that ‘We are never fully satisfied with our work. We always feel that we can do better and that our best piece is yet to be written’.
View all posts

Leave a Reply