हीरो से फिर विलन बने सोनू सूद

ShahTimesNews
Image Credit: ShahTimesNews

खलनायक की भूमिका निभाने वाले फिल्म अभिनेता सोनू सूद को कोरोना के संकटकाल में मजदूरों से लेकर जन सामान्य की मदद ने नायक (हीरो बना दिया था। अचानक मोड़ आया और सोनू के घर व ठिकानों पर आयकर के छापे पड़ें इन पंक्तियों के लिखे जाने तक 20 करोड़ की आयकर चोरी का पता चला है। हालांकि खास बात यह भी है कि सोनू सूद जब से दिल्ली सरकार के ब्रांड अम्बेसडर बने, तभी से उन पर सितारे कुपित हो गये। महाराष्ट्र के शिवसेना नेता संजय राउत ने भी पीएम मोदी को जन्मदिन की बधाई देते हुए इसका संकेत दिया है। बहरहाल मामला कानून का है और उसे अपना काम करने देना चाहिए।

 

आयकर विभाग की टीम लगातार चौथे दिन फिल्म अभिनेता और लोगों की आगे बढ़कर मदद करने वाले सोनू सूद के जुड़े 28 ठिकानों पर एक साथ छापे मार रही है। सूत्रों ने दावा किया है कि विभाग को छापेमारी के दौरान टैक्स की बड़ी हेराफेरी के पुख्ता सबूत मिले हैं। खबर है कि आयकर विभाग की टीम ने मुंबई, लखनऊ, कानपुर, जयपुर, दिल्ली और गुरग्राम में एक साथ रेड डाली है। आयकर विभाग के मुताबिक, टीम को जांच के दौरान करीब 20 करोड़ की टैक्स चोरी का पता चला है। बता दें कि सर्च के दौरान आयकर विभाग की टीम को 1 करोड़ 8 लाख रुपये कैश बरामद हुए हैं जबकि 11 लॉकर्स के बारे में भी पता चला है। सूत्रों ने दावा किया है कि आयकर विभाग को इस छापेमारी में टैक्स की बड़ी हेराफेरी के पुख्ता सबूत मिले हैं। टैक्स की हेराफेरी सोनू सूद के पर्सनल फाइनेंस से जुड़ी हुई है। अभी तक की जानकारी के मुताबिक फिल्मों से मिली फीस में भी टैक्स की बड़ी गड़बड़ी देखी गई है। इन अनियमितताओं के बाद अब इनकम टैक्स विभाग सोनू सूद की चैरिटी फाउंडेशन के अकाउंट्स की भी जांच कर रही है। आयकर विभाग के मुताबिक एक्टर ने अपनी बेहिसाब आय को फर्जी कंपनियों के जरिए रूट किया है। अब तक की जांच में टीम को 20 फर्जी एंट्री का पता चला है। 21 जुलाई 2020 से अब तक एक्टर द्वारा बनाए गए चैरिटी फॉउंडेशन ने करीब 18.94 करोड़ रुपये दान के रूप में एकत्र किए, जिसमें से करीब 1.9 करोड़ रुपये कई राहत कार्यों में खर्च किए गए जबकि 17 करोड़ रुपए अब भी पड़े हुए हैं। जांच के दौरान ये भी पता चला है कि एफसीआरए का उल्लंघन करते हुए सोनू सूद की इस चैरिटी फाउंडेशन में 2.1 करोड़ रुपए जमा किए गए। 

 

 

इनकम टैक्स विभाग के मुताबिक, जांच की इसी कड़ी में लखनऊ में सोनू सूद के करीबी कारोबारी की इंफ्रास्ट्रक्चर ग्रुप के कई ठिकानों पर भी रेड की गई है। सोनू सूद ने भी इस ग्रुप के कई रियल एस्टेट प्रोजेक्ट में इन्वेस्टमेंट किया है, जिससे हुई कमाई को छिपाने के आरोप भी उन पर लगे हैं। तफ्तीश में पता चला है कि ये ग्रुप भी बोगस बिलिंग के जरिए करोड़ों रुपये की हेराफेरी कर चुका है। आयकर विभाग की टीम ने ऐसे करीब 65 करोड़ रुपये की हेराफेरी से जुड़े कागजात बरामद किए हैं। इसके साथ ही ये भी  पता चला है कि करोड़ांे रुपये का कैश और डिजिटल ट्रांसजेक्शन भी इस इंफ्रास्ट्रक्चर ग्रुप ने किया है, जिसको एकाउंट बुक में दर्शाया नहीं गया है। 175 करोड़ रुपये इस कंपनी ने जयपुर की एक फर्जी इंफ्रास्ट्रक्चर ग्रुप में भी इन्वेस्टमेंट दिखाकर कर चोरी की कोशिश की है।  

 

सोनू ने अपनी मेहनत और काबिलियत के बूते पर मुंबई से लेकर पंजाब तक काफी संपत्ति बना ली है। हर साल धूमधाम के साथ गणपति बप्पा का स्वागत करते हैं। अपने मुंबई के शानदार घर में पूजा का एक अलग स्थान बनाया हुआ है। बताते हैं 5500 रुपए लेकर मुंबई पहुंचे सोनू सूद के पास आज है करोड़ों की संपत्ति है।

 

मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक सोनू सूद करीब 130 संपत्तियों के मालिक हैं। सोनू के बारे में कई बार इस तरह की खबर आ चुकी हैं कि जब वे मुंबई पहुंचे तो उनके पास सिर्फ 55 सौ रुपए थे। सोनू सूद की हालत ऐसी थी कि 100 के पास पर मुंबई की लोकल ट्रेन में सफर किया करते थे। आज एक्टर की कमाई करोड़ों रुपए हैं और वह समय के साथ काफी प्रॉपर्टी बना चुके हैं। सोनू सूद फिटनेस फ्रीक एक्टर हैं। अपनी फिटनेस का खास ख्याल रखते हैं। इसलिए अपने इस विशाल अपार्टमेंट में जिम भी बनाया हुआ है। इतना ही नहीं मुंबई के जुहू इलाके में एक पांच मंजिला ‘शक्ति सागर’ नामक होटल है। इस होटल में अवैध निर्माण के आरोप की वजह से बीएमसी से काफी विवाद भी पिछले दिनों हुआ था।

 

लॉकडाउन में एक्टर ने अपने इस होटल में आइसोलेशन सेंटर बना दिया था। सोनू सूद के पास पंजाब के मोगा में आलीशान कोठी है। रिपोर्ट के मुताबिक अपने इस घर के रेनोवेशन में करीब 20 करोड़ रुपए खर्च किए थे। सोनू सूद ने अपनी बहन मालविका के लिए भी एक लग्जरी घर बनवाया है। इसके बारे में जानकारी खुद इंस्टाग्राम पर फोटो शेयर करके दी थीसोनू सूद ने सन 2016 में ‘शक्ति सागर’ नाम से एक प्रोडक्शन हाउस भी खोला था। सोनू के पास करोड़ों रुपए की कई लग्जरी गाड़ियां भी हैं। ऑडी से लेकर मर्सिडिज बेंज भी इनके बेड़े में शामिल है। इतना ही नहीं पोर्श पनामेरा लग्जरी कार के भी मालिक है।

 

अब सोनू सूद के दूसरे पक्ष के बारे मंे जानें। शिवसेना नेता संजय राउत ने गत 17 सितम्बर को पीएम मोदी को जन्मदिन की बधाई दी साथ ही सोनू सूद के घर पर छापेमारी के मामले को भी उठाया। संजय राउत मानते हैं कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जैसा नेता कोई दूसरा नहीं है। राउत ने पीएम को जन्मदिन की शुभकामनाएं देते हुए उनकी तुलना दिवंगत अटल बिहारी वाजपेयी से भी की। हालांकि, यह पहली बार नहीं है जब राउत ने भारतीय जनता पार्टी के समर्थन में कोई बात कही हो। राज्य में केंद्रीय मंत्री नारायण राणे के ‘थप्पड़’ वाले बयान के तूल पकड़ने के बाद उन्होंने कहा था कि बीजेपी और शिवसेना के बीच संबंधों में खटास नहीं आई। इसी बीच खबरें आई थी कि अभिनेता सोनू सूद के ठिकानों पर आयकर विभाग ने छापामार कार्रवाई की है। इस पर राउत ने कहा, ‘मैंने यह देखा है कि दिल्ली सरकार की तरफ से सूद को शिक्षा कार्यक्रम का ब्रांड एंबेसडर बनाए जाने के बाद आईटी रेड हुईं। यह एक गंभीर मुद्दा है।’ उन्होंने बीजेपी से सवाल किया, ‘अगर कोई लोगों की भलाई के लिए अन्य पार्टी में शामिल होता है, तो क्या वह आपका दुश्मन बन जाएगा।’ गत 27 अगस्त को अभिनेता को दिल्ली सरकार की तरफ से कार्यक्रम का ब्रांड एंबेसडर बनाया गया था।

 

दिल्ली में गत 27 अगस्त को बॉलीवुड अभिनेता और कोरोना काल में लोगों के मसीहा बने सोनू सूद ने मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल से मुलाकात की। इसके बाद सीएम केजरीवाल और सोनू सूद ने साझा प्रेस कॉन्फ्रेंस की। इस दौरान सीएम केजरीवाल ने देश के मैंटोर कार्यक्रम के लिए सोनू सूद को ब्रांड एंबेसडर बनने का एलान किया। सीएम केजरीवाल ने कहा कि बच्चों के बेहतर भविष्य के लिए सोनू सूद बच्चों को गाइड करेंगे। साथ ही उन्होंने कहा कि वह मैं भी कुछ बच्चों का मैंटोर बनूंगा। ब्रांड एंबेसडर बनने के बाद अभिनेता सोनू सूद ने कहा, आज दिल्ली सरकार ने देश के मैंटोर का प्लेटफॉर्म नहीं बनाया, देश के लिए कुछ करने का आपके लिए एक प्लेटफॉर्म बनाया है। अगर आप एक भी बच्चे को दिशा दे पाते हैं तो इससे बड़ा देश को कोई योगदान नहीं होगा। अभिनेता सोनू सूद ने उस दिन मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल से उनके आवास पर भी मुलाकात की। इस दौरान उनके साथ उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया और मंत्री राघव चड्ढा भी मौजूद रहे। गौरतलब है कोरोना वायरस को रोकने के लिए पिछले साल देश में लॉकडाउन लागू होने के बाद अभिनेता सोनू सूद ने आगे आकर लोगों की मदद की थी। सोनू सूद ने पीड़ित लोगों को लॉकडाउन में उनके घर पहुंचाने, उनका खाना देने, ट्रेन और बसों में टिकटों का इंतजाम किया था। आज भी लोग सोशल मीडिया के जरिए सोनू सूद से तरह-तरह की मदद मांगते रहते हैं लेकिन वही हीरो अब विलेन बन गया है।

~अशोक त्रिपाठी

Shah Times is a Daily Newspaper & Website brings the Latest News & Breaking News Headlines from India & around the World. Read Latest News Today on Sports, Business, Health & Fitness, Bollywood & Entertainment, Blogs & Opinions from leading columnists.
View all posts

Leave a Reply

image