सही मुद्दे पर प्रियंका गांधी

ShahTimesNews
Image Credit: ShahTimesNews

राजनीति में मुद्दे का बहुत महत्व होता है। चाय वाला मुद्दा कितना कारगर साबित हुआ, यह किसी से छिपा नहीं है। इसीलिए कांग्रेस की राष्ट्रीय महासचिव और उत्तर प्रदेश की प्रभारी प्रियंका गांधी वाड्रा जब 16 जुलाई को उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ पहुंचीं तो उनके सामने समस्या थी कि कौन सा मुद्दा उठाएं। उत्तर प्रदेश में विपक्षी दल सपा और बसपा कोई खास मुद्दा नहीं उठा पा रहे हैं बल्कि आपस में ही उलझे हुए हैं। कोरोना की दूसरी लहर में जनता ने असहनीय तकलीफ झेली है लेकिन बीमारी कभी भी राजनीति में सफल मुद्दा नहीं बन पायी। इसीलिए प्रियंका गांधी ने हाल ही में सम्पन्न हुए ब्लाक प्रमुखों के चुनाव में हिंसा को मुद्दा बनाया और इस हिंसा के शिकार जनप्रतिनिधियों से मिलीं। ध्यान रहे कि ब्लाक प्रमुख का चुनाव ग्राम प्रधान करते हैं जो ग्राम स्तर के पहले जनप्रतिनिधि होते हैं। प्रियंका गांधी ने लखीमपुर जाकर ब्लाक प्रमुख चुनाव के दौरान बदसलूकी की शिकार महिला से मिलकर उसकी लड़ाई लड़ने का आश्वासन दिया। ग्राम प्रधानों से बदसलूकी राजनीति को काफी प्रभावित कर सकती है। इस मामले में प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के सामने अप्रसन्नता भी जतायी। योगी आदित्यनाथ ने भी इटावा के भाजपा नेताओं को फटकारते हुए कहा कि जब सब हार गये थे तो एक सीट के लिए इतना बवाल करने की क्या जरूरत थी। प्रियंका गांधी ने इसके अलावा अपनी पार्टी को मजबूत करने के लिए भी रणनीति बनायी है।

 

 

कांग्रेस की महासचिव और यूपी प्रभारी प्रियंका गांधी तीन दिनों के यूपी दौरे पर हैं। दूसरे दिन प्रियंका गांधी लखनऊ से लखीमपुर खीरी पहुंचीं। यहां प्रियंका गांधी ने खीरी में ब्लॉक प्रमुख चुनाव के दौरान बदसलूकी की शिकार हुई महिला प्रस्तावक अनीता यादव से मुलाकात की। इस दौरान प्रियंका गांधी ने उनका हाल पूछा और हर संभव मदद का आश्वासन दिया। पसगवां में प्रियंका वाड्रा ने ब्लॉक प्रमुख चुनाव में प्रस्तावक अनीता यादव से मुलाकात की। बता दें ब्लॉक प्रमुख चुनाव के दौरान अनीता सिंह से दो युवकों ने मारपीट की थी। इस पर प्रियंका ने ट्वीट भी किया था। उधर, प्रियंका के दौरे को लेकर पुलिस प्रशासन अलर्ट रहा। इससे पहले प्रियंका गांधी लखनऊ पहुंची। जहां उनके स्वागत के लिए हवाई अड्डे पर कार्यकर्ताओं का हुजूम मौजूद रहा। प्रियंका गांधी लखनऊ एयरपोर्ट से सीधे हजरतगंज स्थित गांधी प्रतिमा पहुंचीं। जहां उन्होंने राष्ट्रपिता की मूर्ति पर माल्यार्पण किया। उन्होंने यूपी में फैले कथित जंगलराज, पंचायत चुनाव में हुई हिंसा, महिला उत्पीड़न, ध्वस्त कानून व्यवस्था के खिलाफ दो मिनट का मौन भी रखा। इस दौरान बड़ी संख्या में कांग्रेस कार्यकर्ता मौजूद रहे।

 

 

यूपी में विधानसभा चुनाव की तैयारियों को देखते हुए प्रियंका का यूपी दौरा काफी अहम माना जा रहा है। कांग्रेस जिला स्तर पर संगठन को मजबूत बनाने की कोशिशों में जुटी हुई हैं। सभी सीटों पर उम्मीदवार चुनने की भी प्रक्रिया शुरू हो गई है। प्रियंका तीन दिन तक लखनऊ में रुककर पदाधिकारियों के साथ बैठक कर चुनावी रणनीति पर चर्चा करेंगी। इस बीच उन्होंने ब्लाक प्रमुख चुनाव में मारपीट को मुद्दा बनाया है। 

 

 

त्तर प्रदेश में ब्लॉक प्रमुख चुनाव को लेकर घमासान जारी है। मतदान के दौरान कई जगह बवाल और फायरिंग की गयी। हमीरपुर और इटावा में सपा भजपा समर्थकों में हिंसक झड़प हुई है। कई राउंड फायरिंग भी हुई है। पुलिस ने भी आंसू गैस फायरिंग की। स्पेशल पुलिस बुलाई गई। वहीं, इटावा से भाजपा सदर विधायक सरिता भदौरिया और जिला अध्यक्ष के साथ पुलिस की कहासुनी भी हुई है। हमीरपुर के सुमेरपुर विकासखंड में ब्लाॅक प्रमुख पद के लिए हो रहे मतदान के दौरान सपा व भाजपा कार्यकर्ता आपस में भिड़ गए। दोनों पक्षों में जमकर लाठी-डंडे चले। जिसमें दो वाहन क्षतिग्रस्त होने के साथ सपा प्रत्याशी समेत उनका बीडीसी भाई घायल हो गया। हालांकि मामले को शांत करा पुलिस ने प्रत्याशी व उनके भाई को मतदान स्थल में प्रवेश कराया। जिले में ब्लाॅक प्रमुख पद को लेकर सुमेरपुर का चुनाव सबसे अधिक संवेदनशील था। जालौन के एट थानाक्षेत्र स्थित एक महाविद्यालय में रुके सपा प्रत्याशी जयनारायन सिंह यादव के समर्थक बीडीसी सदस्यों के साथ मारपीट की गई।साथ ही चार सदस्यों को भी मौके से उठा लिया गया। इसके बाद शेष सदस्यों व प्रत्याशी को थाने में बैठाए रखा गया। वहीं सुमेरपुर विकासखंड परिसर में मतदान शुरू होते ही सबसे पहले भाजपा समर्थित प्रत्याशी पूजा सिंह 11 बीडीसी सदस्यों के साथ मतदान को पहुंची।वहीं बाद में सपा समर्थित प्रत्याशी जयनरायन सिंह यादव अपने समर्थक बीडीसी सदस्यों के साथ मतदान को जा रहे थे, तभी हाईवे पर श्री गायत्री विद्यामंदिर इंटर कॉलेज के पास मौजूद भाजपा समर्थकों से सपा समर्थकों की झड़प होने लगी। कुछ ही देर में दोनों पक्षों में जमकर लाठी डंडे चलने लगे, जिसमें सपा प्रत्याशी की स्कॉर्पियो व भाजपा समर्थक की कार क्षतिग्रस्त हो गई। इसके अलावा सपा प्रत्याशी जयनरायन व उनके बीडीसी भाई राजनारायन के भी चोटें आई। पुलिस मामले को शांत कराने में जुटी रही। बाद में समझाने के बाद दोनों पक्ष शांत हो गए।

 

 

कन्नौज जिले में प्रमुख पद के लिए हर ब्लाक में गदर हुआ। भाजपा और सपा समर्थकों ने एक-दूसरे को जहां पाया, हमला बोल दिया। मारपीट, पथराव से हड़कंप मचा रहा। सदर ब्लाक के नामांकन कक्ष में घुसकर सपा प्रत्याशी के प्रस्तावक को पीट दिया गया। प्रपत्र फाड़ दिए गए। बाहर दोनों पक्षों में पथराव हुआ। पुलिस अपने बचाव की भूमिका में रही। हसेरन, उमर्दा, जलालाबाद, गुगरापुर, सौरिख, तालग्राम, छिबरामऊ में भी परिसर और बाहर दोनों जगह समर्थकों में मारपीट, पथराव हुआ। सपा नेताओं ने जिला प्रशासन पर भाजपा के पक्ष में खुलकर कार्य करने का आरोप मढ़ा। वहीं भाजपा ने निष्पक्ष चुनाव होने का दावा किया है। सौरिख और हसेरन में हवाई फायरिंग की गई। वाहनों के शीशे तोड़े गए। मारपीट और पथराव में सपा और भाजपा, दोनों तरफ से लोग घायल हुए हैं। सौरिख में दो दरोगाओं को भी पत्थर लगने से मामूली चोट लगी है। सदर ब्लाक में नामांकन के लिए सुबह से ही भाजपा नेताओं, कार्यकर्ताओं का जमावड़ा ब्लाक परिसर के भीतर और बाहर हो गया। पुलिस ने रास्ता बैरिकेड कर लोगों को रोका। इसी बीच दोनों प्रत्याशियों के समर्थक भीतर पहुंचे। इनमें मारपीट हो गई। इसका पता चलते ही दोपहर करीब 12 बजे सपा का हुजूम पूर्व ब्लाक प्रमुख नवाब सिंह यादव, मुन्ना दरोगा, कलीम खान, नीलू यादव की अगुवाई में पहुंच गया। पुलिस से नोकझोंक कर कई सपाई ब्लाक परिसर में दाखिल होने लगे। अंदर से पुलिस ने गेट बंद कर दिया। गेट पर धक्कामुक्की हुई। इसी बीच भाजपा का अंगौछा पहने भाजपा मंडल अध्यक्ष रामसजीवन को सपाइयों ने धुन दिया। यह सब प्रदेश की कानून-व्यवस्था पर उंगली उठाने को पर्याप्त है।

~अशोक त्रिपाठी

Shah Times is a Daily Newspaper & Website brings the Latest News & Breaking News Headlines from India & around the World. Read Latest News Today on Sports, Business, Health & Fitness, Bollywood & Entertainment, Blogs & Opinions from leading columnists.
View all posts

Leave a Reply