ममता बनर्जी की गलतफहमी

ShahTimesNews
Image Credit: ShahTimesNews

तृणमूल कांग्रेस की नेता और पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने विपक्षी एकता पर महत्वपूर्ण बयान दिया है। वह कहती हैं कि कांग्रेस के कारण पीएम मोदी और बीजेपी ताकतवर हो गयी है। उन्हाेंने गोवा में कांग्रेस के साथ किसी प्रकार का चुनावी तालमेल करने से मना भी किया है। साथ ही सभी क्षेत्रीय दलों को एकजुट होने की अहमियत पर जोर दिया। इन सब बातों में कोई तालमेल नहीं बैठता विपक्षी एकता को लेकर शरद पवार ने बिल्कुल सही कहा था कि कांग्रेस को हम नजरंदाज नहीं कर सकते। विपक्ष में कौन ऐसी पार्टी है जो एक राज्य से ज्यादा में अपना प्रभाव रखती है? कांग्रेस की तो तीन राज्यों में सरकार है और तमिलनाडु में वो सरकार के साथ है। ममता बनर्जी पश्चिम बंगाल से बाहर नहीं निकल पायीं। गोवा की ही बात करें तो वहां कांगे्रस ही मुख्य विपक्षी पार्टी है। ममता बनर्जी को यदि भाजपा को शिकस्त देनी है तो कांग्रेस का साथ देना चाहिए। ममता बनर्जी को कुछ गलतफहमी है वरना वे अपने चुनावी रणनीतिकार प्रशांत किशोर के हाल ही में जारी विश्लेषण पर गौर करतीं। पीके ने कहा है कि अभी भाजपा को हराना असंभव दिख रहा है। ममता बनर्जी टीएमसी को लेकर कह रही हैं कि टी फार टेम्पल, एम फार मास्क (मस्जिद) और सी फार चर्च (क्राइट) तो जनता इससे प्रभावित होने वाली नहीं है। जनता को विकास चाहिए और अनुच्छेद 370 हटाने जैसे विचार। विपक्ष को भी यही रास्ता अपनाना पड़ेगा।


गोवा पहुंचीं तृणमूल कांग्रेस (टीएमसी) सुप्रीमो और पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने कांग्रेस पर तंज कसा है। ममता ने कहा है कि मोदीजी इतने ताकतवर सिर्फ कांग्रेस की वजह से हो गए हैं। ममता बनर्जी गोवा में विधानसभा चुनाव के लिए प्रचार करने पहुंची हैं। ममता ने विजय सरदेसाई की पार्टी गोवा फारवर्ड पार्टी से गठबंधन की पुष्टि भी की है। ममता ने कहा कि कांग्रेस के कारण पीएम मोदी और बीजेपी इतनी ताकतवर हो गई है और कांग्रेस उनके लिए प्रचार करने के तौर पर काम कर रही है। उन्होंने गोवा में कांग्रेस के साथ किसी भी चुनावी गठबंधन न करने का संकेत दिया है। ममता ने कहा कि कांग्रेस विपक्षी दलों को एकजुट करने की जरूरत को समझने में नाकाम रही है। उन्होंने बीजेपी का सामना करने के लिए सभी क्षेत्रीय दलों को एकजुट होने की अहमियत पर जोर दिया ताकि देश के संघीय ढांचे को मजबूत किया जा सके। ममता बनर्जी ने कहा, मोदीजी और ताकतवर होने जा रहे हैं और इसका कारण कांग्रेस है। कांग्रेस बीजेपी की टेलीविजन रेटिंग्स पार्टी बन गई है। अगर वो कोई फैसला नहीं लेते हैं तो देश को नुकसान पहुंचेगा लेकिन देश को सहन क्यों करना चाहिए। देश के पास पर्याप्त अवसर हैं। तृणमूल कांग्रेस  की सुप्रीमो गोवा में पार्टी का प्रचार करने पहुंची थी। टीएमसी ने गोवा फारवर्ड पार्टी से गठबंधन किया है, जिसके मुखिया विजय सरदेसाई हैं। सरदेसाई अभी तक बीजेपी सरकार के साथ रहे हैं। ममता ने पश्चिम बंगाल चुनाव की ओर भी इशारा किया। कांग्रेस ने  तृणमूल के साथ गठबंधन  का मौका खो दिया। उन्होंने लेफ्ट और इंडियन सेकुलर फ्रंट के साथ आगे बढ़कर काम करना तय किया। प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष अधीर रंजन चौधरी ने कहा था कि बीजेपी या टीएमसी का नामलेवा नहीं रहेगा, सिर्फ महागठबंधन रहेगा। हालांकि कांग्रेस, लेफ्ट को चुनाव में एक भी सीट पर जीत नहीं मिली। टीएमसी ने हाल ही में बंगाल में कांग्रेस के हाथ न मिलाने का जिक्र भी किया था। गोवा में कांग्रेस ने गोवा फारवर्ड पार्टी से भी गठबंधन से इनकार कर दिया। इसके बाद विजय सरदेसाई ने टीएमसी का रुख किया।

 


ध्यान रहे कि चुनाव रणनीतिकार प्रशांत किशोर ने गत दिनों कहा कि भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) भारतीय राजनीति के केन्द्र में रहेगी और ‘‘अगले कई दशकों तक यह कहीं जाने वाली नहीं है। चाहे वह जीते या हारे। गोवा में होने वाले विधानसभा चुनाव में तृणमूल कांग्रेस (टीएमसी) की जीत की रणनीति तैयार कर रहे किशोर ने कांग्रेस नेता राहुल गांधी की इस सोच के लिए उन पर तंज किया कि लोग भाजपा को तत्काल उखाड़ फेंकेंगे। एक वीडियो वायरल हुआ है जिसमें किशोर गोवा में एक निजी बैठक को संबोधित करते नजर आ रहे हैं। ‘इंडियन पॉलिटिकल एक्शन कमेटी (आई-पीएसी) के एक वरिष्ठ नेता ने इस बात की पुष्टि की कि यह वीडियो एक निजी बैठक का है। किशोर आई-पीएसी के प्रमुख हैं। इस बयान पर प्रतिक्रिया जताते हुए कांग्रेस ने टीएमसी पर आरोप लगाया कि वह राज्य की राजनीति में इसलिए प्रवेश कर रही है ताकि धर्मनिरपेक्ष वोटों को बांट सके और सत्तारूढ़ भाजपा को फायदा पहुंचा सकें। साथ ही पार्टी ने आरोप लगाया कि किशोर के बयान से ममता बनर्जी नीत पार्टी के एजेंडा का भंडाफोड़ हुआ है। इस वीडियो में किशोर यह कहते नजर आ रहे हैं। भारतीय जनता पार्टी चाहे जीते या हारे, वह राजनीति के केन्द्र में रहेगी, जैसा कि पहले 40 वर्षों में कांग्रेस के लिए था, भाजपा कहीं नहीं जा रही है।


उन्होंने कहा, भारत के स्तर पर एक बार आप 30 प्रतिशत से अधिक वोट हासिल कर लें, तो फिर आप जल्दी कहीं नहीं जाने वाले। इसलिए, इस जाल में कभी मत फंसना कि लोग मोदी (प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी) से नाराज हैं और वे उन्हें उखाड़ फेकेंगे। किशोर ने कहा, ‘‘हो सकता है कि वे मोदी को हटा दें, लेकिन भाजपा कहीं नहीं जा रही। वे यहीं रहेंगे, आपको अगले कई दशकों तक इसके लिए लड़ना होगा। यह जल्दी नहीं होगा। पीके ने कांग्रेस नेता राहुल गांधी का जिक्र करते हुए कहा,‘‘ राहुल गांधी के साथ समस्या यही है। शायद वह सोचते हैं कि यह कुछ ही दिनों की बात है कि लोग उन्हें (मोदी को) नकार देंगे। ऐसा नहीं होने जा रहा है। गौरतलब है कि किशोर ने इस वर्ष पश्चिम बंगाल और तमिलनाडु में हुए विधानसभा चुनावों में तृणमूल कांग्रेस और द्रमुक के लिए जीत की रणनीति तैयार की थी और दोनों ही दलों ने अपने-अपने राज्यों में जीत दर्ज की थी। गोवा में अगले वर्ष फरवरी में चुनाव होने वाले हैं और तृणमूल कांग्रेस ने कहा है कि वह चुनाव में अपने प्रत्याशी उतारेगी। किशोर के बयान के बाद टीएमसी की आलोचना करते हुए गोवा प्रदेश कांग्रेस समिति के प्रमुख गिरीश चोडांकर ने कहा, ‘‘पिछले एक महीने से टीएमसी गोवा में आई है। मैंने हमेशा कहा है कि टीएमसी को गोवा भेजने में अमित शाह और प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) का हाथ है। अब उनके रणनीतिकार जिनकी सेवा पैसे का भुगतान करके ली गई है, उन्होंने आशंकाओं की पुष्टि की है और कहा है कि भाजपा यहां रूकेगी। टीएमसी वोटों का बंटवारा करने आई है। इस प्रकार कांग्रेस ने तो टीएमसी को ही कठघरे में खड़ा कर दिया है। 

 

Shah Times is a Daily Newspaper & Website brings the Latest News & Breaking News Headlines from India & around the World. Read Latest News Today on Sports, Business, Health & Fitness, Bollywood & Entertainment, Blogs & Opinions from leading columnists.
View all posts

Leave a Reply

image