भारत का समग्र टीकाकरण कवरेज 12.38 करोड़ से अधिक हुआ

ShahTimesNews
Image Credit: ShahTimesNews

नई दिल्ली  दुनिया के सबसे बड़े टीकाकरण अभियान के अंग के रूप में, देश में कोविड-19 वैक्सीन खुराक के संचयी आंकड़े ने आज 12.38 करोड़ की संख्या को पार कर लिया है।

आज सुबह 7 बजे तक अनंतिम रिपोर्ट के अनुसार, 18,37,373 सत्रों के माध्यम से कुल 12,38,52,566 वैक्सीन की खुराक दी गईं। इनमें 91,36,134 एचसीडब्ल्यू शामिल हैं जिन्होंने पहली खुराक ली और  57,20,048 एचसीडब्ल्यू जिन्होंने दूसरी खुराक ली, 1,12,63,909 एफएलडब्ल्यू ने (पहली खुराक) ली जबकि 55,32,396 एफएलडब्ल्यू (दूसरी खुराक) ली। 60 वर्ष से अधिक आयु के पहली खुराक के लाभार्थी 4,59,05,265 और दूसरी खुराक के लाभार्थी 40,90,388 हैं। 45 से 60 वर्ष की आयु के पहली खुराक के लाभार्थी 4,10,66,462 है और दूसरी खुराक के लाभार्थी  11,37,964 हैं।

 

एचसीडब्ल्यू

एफएलडब्ल्यू

45 से 60 वर्ष की आयु

60 वर्ष से अधिक आयु

 

कुल

पहली खुराक

दूसरी खुराक

पहली खुराक

दूसरी खुराक

पहली खुराक

दूसरी खुराक

पहली खुराक

दूसरी खुराक

91,36,134

57,20,048

1,12,63,909

55,32,396

4,10,66,462

11,37,964

4,59,05,265

40,90,388

12,38,52,566

 

देश में अब तक दी गई कुल खुराक का 59.42 प्रतिशत हिस्सा आठ राज्यों से है।

https://static.pib.gov.in/WriteReadData/userfiles/image/image001X8H9.jpg

पिछले 24 घंटों में 12 लाख से अधिक टीकाकरण किया गया है।

टीकाकरण अभियान (18 अप्रैल, 2021) के 93वें दिन, वैक्सीन की कुल 12,30,007 खुराक दी गईं। 21,905 सत्रों में 9,40,725 लाभार्थियों को पहली खुराक के लिए टीका लगाया गया था और 2,89,282 लाभार्थियों को दूसरी खुराक के लिए टीका लगाया गया।

 

दिनाँक: 18 अप्रैल, 2021 (दिवस-93)

एचसीडब्ल्यू

एफएलडब्ल्यू

45 से 60 वर्ष की आयु

60 वर्ष से अधिक आयु

कुल उपलब्धि

पहली खुराक

दूसरी खुराक

पहली खुराक

दूसरी खुराक

पहली खुराक

दूसरी खुराक

पहली खुराक

दूसरी खुराक

पहली खुराक

दूसरी खुराक

8,000

11,825

30,513

22,158

5,91,469

56,205

3,10,743

1,99,094

9,40,725

2,89,282

 

भारत के नए मामलों में प्रतिदिन वृद्धि दर्ज की जा रही है, पिछले 24 घंटों में 2,73,810 नए मामले दर्ज किए गए हैं।

महाराष्ट्र, उत्तर प्रदेश, दिल्ली, कर्नाटक, केरल, छत्तीसगढ़, मध्य प्रदेश, तमिलनाडु, गुजरात और राजस्थान सहित दस राज्यों में नए मामलों का 78.58 प्रतिशत दर्ज किया गया है।

महाराष्ट्र में सबसे अधिक दैनिक नए मामले 68,631 दर्ज किए गए हैं। इसके बाद उत्तर प्रदेश में 30,566 और दिल्ली में  25,462 नए मामले सामने आए हैं।

https://static.pib.gov.in/WriteReadData/userfiles/image/image002NANI.jpg

नीचे प्रदर्शित बीस राज्यों में नए दैनिक मामलों में तेजी का रुख दिख रही है।

https://static.pib.gov.in/WriteReadData/userfiles/image/image0039C2R.jpg

https://static.pib.gov.in/WriteReadData/userfiles/image/image004A1AY.jpg

https://static.pib.gov.in/WriteReadData/userfiles/image/image0056TZO.jpg

https://static.pib.gov.in/WriteReadData/userfiles/image/image006PSHA.jpg

https://static.pib.gov.in/WriteReadData/userfiles/image/image0071CFL.jpg

भारत में कुल सक्रिय मामलो की संख्या 19,29,329 तक पहुंच गयी है। यह अब देश के कुल पुष्टि वाले मामलों का 12.81 प्रतिशत है। पिछले 24 घंटों में कुल सक्रिय मामलों में 1,28,013 मामले दर्ज किए गए हैं।

https://static.pib.gov.in/WriteReadData/userfiles/image/image0084OPB.jpg

देश के कुल सक्रिय मामलों में पांच राज्यों महाराष्ट्रछत्तीसगढ़उत्तर प्रदेशकर्नाटक और केरल का समग्र रूप से 63.18 प्रतिशत हिस्सा है।

https://static.pib.gov.in/WriteReadData/userfiles/image/image009T2QQ.jpg

भारत में कुल स्वस्थ होने वाले मामले आज 1,29,53,821 है। राष्ट्रीय रिकवरी दर 86.00 प्रतिशत है।

पिछले 24 घंटों में 1,44,178 रिकवरी दर्ज की गई है।

देश में मृत्यु दर में गिरावट जारी है और वर्तमान में यह 1.19 प्रतिशत है।

पिछले 24 घंटों में 1,619 मृत्यु दर्ज हुईं हैं।

दस राज्यों में नई मृत्यु का प्रतिशत 85.11 है। महाराष्ट्र में अधिकतम मृत्यु (503) दर्ज की गईं जबकि छत्तीसगढ में दैनिक 170 मृत्यु दर्ज की गईं हैं।

https://static.pib.gov.in/WriteReadData/userfiles/image/image0107MHQ.jpg

पिछले 24 घंटों में दस राज्यों/केंद्र शासित प्रदेशों से किसी की भी कोविड-19 के कारण मृत्यु की सूचना नहीं है। इन राज्यों में लद्दाख (केंद्र शासित प्रदेश), दमन एवं दीव और दादर एवं नागर हवेलीत्रिपुरासिक्किममिजोरममणिपुरलक्षद्वीपनागालैंडअंडमान और निकोबार द्वीप समूह और अरुणाचल प्रदेश हैं।

प्रधानमंत्री गरीब कल्याण पैकेज (पीएमजीकेपी) की घोषणा मार्च 2020 में की गई थी। यह योजना कोविड-19 के कारण स्वास्थ्य कर्मियों द्वारा किसी भी प्रतिकूल परिस्थिति का सामना करने के लिए उन्हें सुरक्षा प्रदान करती है। 24 अप्रैल 2021 तक इस योजना को तीन बार बढ़ाया गया है। इस योजना के तहत हेल्थ वर्कस को 50 लाख रुपये तक का बीमा कवर मिलता है। इससे ऐसे कोरोना वॉरियर्स के परिजनों को काफी सुरक्षा मिली जिनकी मौत कोविड-19 की वजह से हुई हो।

इसके तहत अब तक इंश्योरेंस कंपनियों ने 287 क्लेम का निपटारा किया है। इस स्कीम से कोविड-19 के खिलाफ लड़ने वाले हेल्थ वर्कस का मनोबल काफी बढ़ा है।

प्रधानमंत्री गरीब कल्याण पैकेज (पीएमजीकेपी) के तहत अब इंश्योरेंस कंपनियां 24 अप्रैल 2021 तक कोविड वारियर्स द्वारा किए गए क्लेम का निपटारा करेंगी। उसके बाद कोविड वारियर्स के लिए एक नई बीमा पॉलिसी प्रभावी हो जाएगी।

*

I think all aspiring and professional writers out there will agree when I say that ‘We are never fully satisfied with our work. We always feel that we can do better and that our best piece is yet to be written’.
View all posts

Leave a Reply