देश में कट्टरता का बढ़ना और जम्हूरी निज़ाम का तहस नहस होना चिंता का विषय: राशिद अल्वी

ShahTimesNews
Image Credit: ShahTimesNews

जो घृणा देश में फैलाई जा रही है उससे बाहर निकल पाना बहुत मुश्किल होगा,अगर बुद्धिजीवी वर्ग अब भी खामोश रहा तो भविष्य में इसके दूरगामी परिणाम देखने को मिलेंगे।

 

आये दिन देश में हो रही लिचिंग,देश में बढ़ता धार्मिक कट्टरवाद और समाज में ऐसी घृणित सोंच पैदा करने वाले गुंडे और उनको मिलता कानूनी संरक्षण और नेताओं का समर्थन देश को ऐसे दलदल की और धकेल देगा जिससे वाहर निकल पाना बहुत मुश्किल होगा और भविष्य में इसके दूरगामी परिणाम देखने को मिलेंगे।अभी अभी कानपुर में हुई घटना जिसमें एक मासूम बच्ची के पिता को उसके सामने बहरेमी से पीटा गया,वो ज़ालिम गुंडों के सामने गिड़गिड़ाती रही अपने पिता को बचाने के लिए वहां मोजूद पुलिस भी तमाशाबीन बनकर देखती रही और तो और पुलिस ने कमजोर धाराओं में मुकदमा लगाया जिससे वो ज़ालिम एकदिन में ही जमानत पा गए। दूसरी घटना इंदौर की एक चूढ़ी बेचने वाले फेरीवाले को वहरेमी से पीटा गया और उल्टा उसी पर कई गंभीर धाराओं में मुकदमा लगा दिया गया हमारे देश का निज़ाम किस और जा रहा है आप समझ सकते हैं।अगर हमारे देश का बुद्धिजीवी वर्ग, इन्सानी ज़हनियत रखने वाला समाज चुप रहा उसने आगे आकर आवाज़ नहीं उठायी तो देश का जम्हूरी निज़ाम पूरी तरह से खत्म हो जायेगा। ज़ुल्म बढ़ जायेगा और लोग भय के माहौल में जीना शुरू कर देंगे। इन्सान इंसान को घृणित नज़रों से देखना शुरू कर देगा, पढ़ोसी पढ़ोसी से सुरक्षित महसूस नहीं करेगा ऐसा माहौल बन जायेगा के लोग एक दूसरे से डरने लगेंगे के कब इन्सानी सकल में भेड़िए आ जायें।

 

आज़ादी के बाद से अब तक हमारे देश में एसी स्थिति कभी पैदा नहीं हुई जैसी अब है, हमारे देश का जम्हूरी निज़ाम ऐसा है जो पूरी दुनिया के लिए एक मिसाल है। जहां सभी धर्मों के लोग त्यौहार भी एक दूसरे के साथ मिलकर मनाते हैं और हर किसी के सुख-दुख में भी साथ मिलकर चलते हैं लेकिन कुछ कट्टरवादी और घृणित सोच वालों को ऐसा लोकतांत्रिक माहोल पसंद नहीं आ रहा जिसे तहस नहस करने की कोशिश की जा रही है।हमारा मुल्क इंसानियत से लबरेज़ एक गुलदस्ता है जिसमें सभी धर्मों के फूल खिलते हैं और उनमें से इंसानियत की खुशबू आती है मेरे प्यारे देशवासियों इंसानियत की महकती इस खुशबू को देश की फिज़ाओं में ऐसे ही महकने दो इसे नफ़रत की आग में धकेलने वाले जालिम और कट्टरवादी सोच को देश में मत पनप ने दो।
हिंदी हैं हम वतन है हिन्दोस्तां हमारा। 
सारे जहाँ से अच्छा हिन्दोस्तां हमारा
                                       

मो राशिद अल्वी
 
(सोशलएक्टिविस्ट)

                 

Shah Times is a Daily Newspaper & Website brings the Latest News & Breaking News Headlines from India & around the World. Read Latest News Today on Sports, Business, Health & Fitness, Bollywood & Entertainment, Blogs & Opinions from leading columnists.
View all posts

Leave a Reply