बॉलीवुड अभिनेत्री दिशा पाटनी के पिता सहित सात को हुआ कोरोना, बिजली कार्यालय चार दिन के लिए बंद

ShahTimesNews
Image Credit: ShahTimesNews

बॉलीवुड एक्टर दिशा पाटनी के पिता व सीओ विजिलेंस जगदीश पाटनी सहित बिजली निगम के सात से अधिक लोग कोरोना पॉजिटिव पाए गए है। बुधवार को सर्किट हाउस के पास बिजली निगम कार्यालय में मोबाइल यूनिट ने सौ से अधिक कर्मचारियों के सैंपल लिए। जिसकी रिपोर्ट गुरुवार को आई जिसमें सात से अधिक लोग संक्रमित मिले हैं। बिजली निगम का कार्यालय चार दिन के लिए बंद कर दिया गया है। पिछले दिनों लखनऊ से जांच करने आई टीम कोरोना पॉजिटिव आई थी। उसके बाद बुधवार को बिजली निगम कार्यालय में मोबाइल मेडिकल यूनिट की टीम ने अभिषेक त्यागी के निर्देशन में शिविर लगाया था। शिविर में 100 से अधिक लोगों की जांच की गई जिसमें सीओ विजिलेंस जगदीश पाटनी समेत बिजली निगम के सात लोग पॉजिटिव पाए गए। इसके अलावा कई अधिकारियों और कर्मचारियों ने एक दिन पहले ही जांच कराई थी, जिसमें एक एसडीओ समेत कई लोग संक्रमित मिले हैं। बिजली निगम का कार्यालय बंद हो गया है और अब आगामी सोमवार को खुलेगा। नगर निगम से कार्यालय में सेनेटाइजेशन के लिए कहा गया है।।

Tags:

I think all aspiring and professional writers out there will agree when I say that ‘We are never fully satisfied with our work. We always feel that we can do better and that our best piece is yet to be written’.
View all posts

4 Comments

AJAY SINGH RAJPUT AJAY SINGH RAJPUT Friday, September 2020, 03:07:59

I think all aspiring and professional writers out there will agree when I say that ‘We are never fully satisfied with our work. We always feel that we can do better and that our best piece is yet to be written

Shivam Shivam Friday, September 2020, 03:11:33

Lorem ipsum, or lipsum as it is sometimes known, is dummy text used in laying out print, graphic or web designs. The passage is attributed to an unknown typesetter in the 15th century who is thought to have scrambled parts of Cicero's De Finibus Bonorum et Malorum for use in a type specimen book.


Shivam Shivam Friday, September 2020, 03:13:18

I think all aspiring and professional writers out there will agree when I say that ‘We are never fully satisfied with our work. We always feel that we can do better and that our best piece is yet to be written


LejCIbPhiWJH LejCIbPhiWJH Saturday, September 2020, 01:49:12

FdOynouLmiDcPUYQ


LejCIbPhiWJH LejCIbPhiWJH Saturday, September 2020, 01:49:16

kbVvCBTuxWPKjlL


Leave a Reply