रामपुर जिला पंचायत में लहराया भाजपा का परचम

ShahTimesNews
Image Credit: ShahTimesNews


भाजपा के ख्यालीराम लोधी ने सपा समर्थित प्रत्याशी को 5 वोटों से दी शिकस्त

आज़म के गढ़ में हुआ जिला पंचायत की सीट पर भाजपा का कब्जा

मीडिया को मतदान केंद्र से एक किलोमीटर दूर ही रखा प्रशासन ने

इमरान हुसैन शाह टाइम्स ब्यूरो
मोहम्मद आसिफ संवाददाता
सलीम चौधरी संवाददाता
रामपुर। जनपद रामपुर में भारतीय जनता पार्टी के समर्थित प्रत्याशी ख्यालीराम लोधी ने समाजवादी पार्टी समर्थित प्रत्याशी नसरीन जहां को 5 वोटों से पराजित कर जीत हासिल की। जिला पंचायत चुनाव में समाजवादी पार्टी के पदाधिकारी सांसद मोहम्मद की लाज नहीं बचा पाए। जनपद रामपुर में जिला पंचायत अध्यक्ष के चुनाव को लेकर मतदान सुबह 11 बजे आरंभ हो गया। जिसमें सदस्यों ने अपने मत का प्रयोग करने के लिए मतदान केंद्र पर पहुंचकर अपना वोट डाला।
बताते चलें कि जनपद रामपुर में समाजवादी पार्टी तथा भारतीय जनता पार्टी के प्रत्याशी में कांटे की टक्कर है। समाजवादी पार्टी के 11 सदस्य तथा भारतीय जनता पार्टी के मात्र 7 सदस्य हैं जबकि निर्दलीय 7 सदस्य हैं।
सुबह 11 बजे मतदान शुरू हुआ मतदान केंद्र जिला कचहरी प्रांगण में बनाया गया जिसमें 12 बजे तक समाजवादी पार्टी तथा भारतीय जनता पार्टी के सभी सदस्य अपना मत का प्रयोग करने के लिए जिला कचहरी प्रांगण में मतदान केंद्र अपने मत का प्रयोग करने के लिए मतदान केंद्र पहुंचे। शहर के सिविल लाइन स्थित अंबेडकर के सामने शासन द्वारा बैरिकेटिंग कर व्यवस्था को संभाला। लेकिन हैरत की बात यह है कि प्रशासन ने मीडिया को भी एक किलोमीटर की दूरी पर रहने के आदेश दिए हैं। जबकि इससे पहले किसी भी चुनाव में मीडिया को इतनी दूर नहीं रखा गया। आखिर क्या बात है जो मीडिया को इतनी दूर रखा गया है क्या जिला प्रशासन कोई खेल खेलने की तैयारी में है। क्या जिला प्रशासन सत्ता के दबाव में काम कर रहा है जिला पंचायत सदस्य के साथ गलत ना होने के डर से अमरोहा के विधायक महबूब अली तथा पूर्व मंत्री कमाल अख्तर भी कुछ सदस्यों को लेकर वोट डलवाने के लिए रामपुर पहुंचे। जिनकी मौजूदगी में सदस्यों को अपने मत का प्रयोग करने के लिए बैरिकेडिंग के अंदर लिया गया। कुछ ही देर बाद सपा पार्टी के कुछ प्रत्याशी अपने मत का प्रयोग कर बाहर आ जाते हैं और आरोप लगाने लगते हैं कि उनके कुछ सदस्यों को वोट नहीं डालने दिया जा रहा है जिसको लेकर सपा के विधायक तथा कार्यकर्ता मौके पर मौजूद अधिकारियों से गिर जाते हैं साथ ही बैरिकेटिंग के पास हाईवे पर धरना प्रदर्शन करने लगते हैं। समाजवादी पार्टी का आरोप है कि हमारे 2 सदस्यों को रास्ते से ही उठा लिया गया जिसको लेकर अपने सदस्यों को वापस करने की मांग करने को लेकर धरना देने लगे।
वहीं दूसरी ओर धरना प्रदर्शन होने के कारण भाजपाइयों में खुशी की लहर दौड़ रही है। जिला प्रशासन ने भी कड़ी सख्ती के बीच मोर्चा संभाल रखा था।
3 बजे तक मतदान चलता रहा जिसमें 32 सदस्यों ने अपने मत का प्रयोग किया। कुछ ही देर बाद चुनाव का नतीजा भी सामने आ गया। जिसमें कुल 32 मत पड़े जिसमें से 1 मत रिजेक्ट हो गया जिसमें कुल 31 मत वैध रहे। जिसमें भारतीय जनता पार्टी के समर्थित प्रत्याशी ख्यालीराम लोधी को कुल 18 मत समाजवादी समर्थित प्रत्याशी नसरीन जहां को कुल 13 तथा अमरजीत सिंह को कोई मत प्राप्त नहीं हुआ इस प्रकार भारतीय जनता पार्टी समर्थित प्रत्याशी ख्यालीराम लोधी ने 5 मतों से विजयी प्राप्त की।
मतदान पूर्ण होने पर राज्यमंत्री बलदेव औलख अंबेडकर पार्क बेरीकैटिंग के पास पहुंचे और अपने कार्यकर्ताओं को आश्वासन दिया कि हमें 18 मत प्राप्त हो चुके हैं हम जीत चुके हैं। सूचना पाते ही कार्यकर्ताओं ने जोश को उभर पड़ा। कार्यकर्ता पूरे जोश खरोश के साथ जीत के जश्न में डूब गए और आतिशबाजी नारेबाजी तथा ढोल नगाड़ों के साथ जश्न मनाने लगे। कुछ देर बाद जीत हासिल करने वाले भाजपा समर्थित प्रत्याशी ख्यालीराम लोधी को जिलाधिकारी रविंद्र कुमार माॅदड़ ने राज्य मंत्री बलदेव सिंह औलख की मौजूदगी में जीत का प्रमाण पत्र दिया।
वहीं दूसरी ओर समाजवादी पार्टी के विधायक महबूब अली, नेता प्रतिपक्ष
राम गोविंद चौधरी, कानपुर विधायक अमिताभ वाजपेई, विधायक फहीम अहमद, पूर्व मंत्री कमाल अख्तर, जिला अध्यक्ष अखिलेश कुमार गंगवार, प्रमोद गंगवार, पूर्व विधायक विजय सिंह, पूर्व चेयरमैन मतलूब अंसारी, ओमेंद्र सिंह चौहान, सरदार लखविंदर सिंह, अनीता यादव, फसाहत शानू सहित सैकड़ों कार्यकर्ता धरने पर बैठ गए।
कुछ देर धरना चलने के बाद धरना समाप्त कर नेता प्रतिपक्ष तथा सभी कार्यकर्ता चले गए।
धरने के दौरान नेता प्रतिपक्ष रामगोविंद चौधरी ने मीडिया को जारी बयान में कहा है कि हमारी पार्टी के प्रत्याशी के साथ धोखाधड़ी हुई है जानबूझकर हमारे प्रत्याशी को हराया गया है जबकि हमारे प्रत्याशी के पास 22 सदस्य थे उसके बावजूद भी हमारे 13 सदस्य के वोट ही प्रशासन ने दिखाए हैं। इसके लिए हम चुनाव आयोग तथा अन्य जगहों पर शिकायत करेंगे। इस दौरान विधायक अमिताभ बाजपेई ने कहा कि आने वाला समय समाजवादी पार्टी का है अधिकारी अपने रवैया को नहीं सुधार रहे हैं सत्ता आने पर अधिकारियों को हम सुधारेंगे।
वहीं दूसरी ओर सपा समर्थित प्रत्याशी नसरीन जहां ने मीडिया को जारी बयान में प्रशासन पर आरोप लगाते हुए कहा है कि मेरे साथ मुझ सहित 23 सदस्य थे जो सभी मेरे साथ वोट डालने के लिए गए थे जिसमें से 10 सदस्यों से वोट डलवाए बाकी 13 सदस्यों को वोट नहीं डालने दिया गया जिनका वोट प्रशासन द्वारा खुद डाल दिया गया जिसके कारण मुझे हराकर भाजपा के प्रत्याशी को जिताया गया है।

 

 

चप्पे-चप्पे पर तैनात रहा पुलिस बल
जिला पंचायत अध्यक्ष के चुनाव के दौरान गड़बड़ी नहीं हो जिसको लेकर पुलिस अधीक्षक शगुन गौतम ने चप्पे-चप्पे पर पुलिस फोर्स को तैनात कर दिया था। इस दौरान एक व्यक्ति हो शक के आधार पर पुलिस ने रोका जिसके पास से एक तमंचा प्राप्त हुआ जिसको तुरंत पुलिस में अपनी गिरफ्त में लेकर थाना सिविल लाइंस में जाकर बंद कर दिया।

I think all aspiring and professional writers out there will agree when I say that ‘We are never fully satisfied with our work. We always feel that we can do better and that our best piece is yet to be written’.
View all posts

Leave a Reply