HomeHealthथैलेसीमिया की पहचान के लिए टेस्टिंग जल्दी और तेज करने की जरूरत

थैलेसीमिया की पहचान के लिए टेस्टिंग जल्दी और तेज करने की जरूरत

Published on

विश्व थैलेसीमिया दिवस

नई दिल्ली,(सफदर अली)। थैलेसीमिया के बारे में जागरूकता की कमी है। यही कारण है कि इस बीमारी के बारे में जागरूकता फैलाने के लिए हर साल 8 मई को विश्व थैलेसीमिया दिवस के रूप में मनाया जाता है।
गौरतलब है कि थैलेसीमिया ख़ून से संबंधित आनुवंशिक बीमारी है। थैलेसीमिया जीन की कमी या जीन में त्रुटियों के कारण होता है, ये जीन हीमोग्लोबिन (लाल रक्त कोशिकाओं में पाया जाने वाला प्रोटीन) के उत्पादन के लिए जिम्मेदार होते हैं। इसे जीन के अल्फा या बीटा ग्लोबिन अवस्था के आधार पर माइनर, मेजर और इंटरमीडिया प्रकार के थैलेसीमिया में विभाजित किया गया है।


प्राइमस सुपरस्पेशलिटी हॉस्पिटल के इंटरनल मेडिसिन डिपार्टमेंट हेड डॉ अनुराग सक्सेना के अनुसार इस बीमारी में इलाज़ किस प्रकार दिया जायेगा, यह थैलेसीमिया बीमारी की गंभीरता पर निर्भर करता हैं। मेजर थैलेसीमिया मरीजों को कम उम्र में डायग्नोसिस किया जाता है, उन्हें आजीवन ब्लड ट्रांसफ्यूजन की आवश्यकता होती है। इस वजह से उनके जीवन जीने की उम्र कम हो जाती है। जबकि माइनर थैलेसीमिया मरीजों मे केवल एनीमिक स्थिति नज़र आती है।

Dainik Shah Times E-Paper 9 May 23


भारत में हर साल दस हजार से ज्यादा बच्चे थैलेसीमिया से ग्रसित होने के साथ पैदा होते हैं। इतनी बड़ी संख्या के बावजूद इस बीमारी को रोकने का कोई उपयुक्त उपाय नहीं है। औसतन मेरे पास माइनर थैलेसीमिया से पीड़ित 30 से 40 मरीज़ आते हैं। इन माइनर मरीजों को इस बीमारी से पीड़ित रहने के बारे में पता नहीं होता है। इसके अलावा 12 से 15 मरीज़ ऐसे आते हैं जो मेजर थैलेसीमिया से पीड़ित होते हैं। इस साल के बजट में 2047 तक सिकल सेल रोग के उन्मूलन की दिशा में सरकार ने कदम उठाया है। गौरतलब है कि सिकल सेल बीमारी भी लाल रक्त कोशिकाओं के आकार को प्रभावित करने वाली एक आनुवंशिक विकार है। इसलिए सरकार को इस बीमारी के उन्मूलन पर भी ध्यान देना चाहिए। थैलेसीमिया की पहचान के लिए टेस्टिंग जल्दी और तेज करने की जरूरत है और इस बीमारी पर तत्काल ध्यान देने की आवश्यकता है। इसके अलावा इस बीमारी के बारे में जागरूकता बढ़ाना अतिआवश्यक है। डॉ अनुराग सक्सेना बताते हैं कि मेजर थैलेसीमिया को होने से रोका जा सकता है बशर्ते कि मां बाप बनने से पहले दंपत्ति डॉक्टरों से सलाह लें और अपनी जांच करवाएं । जांच में उन्हे पता चलेगा कि उन्हे माइनर थैलेसीमिया है या नहीं। इसी के अनुसार ही वह अपनी गर्भावस्था की योजना बना पायेंगे। अगर मां – बाप दोनों मे थैलेसीमिया लक्षण हैं तो बच्चे के मेजर थैलेसीमिया बीमारी के साथ पैदा होने की 25% संभावना होती है।

world thalassemia day,Shah Times ,शाह टाइम्स

Latest articles

कोतवाली पुलिस ने चैकिंग के दौरान एक कार से बरामद किए 30 लाख रुपये

राजपुर रोड स्थित दिल्ली नंबर की कार को रोककर उसमे से बरामद कि नगदी इंकम...

रिलायंस शोरूम में पड़ी डकैती के वांछित को बी वारंट पर दून लाएगी पुलिस

राज्य स्थापना दिवस पर राजपुर रोड स्थित ज्वैलरी शोरूम में डाली थी 15 करोड...

दलितों की आवाज उठाने पर चंद्रशेखर आजाद को किया नजरबंद

संभल , (Shah Times ) । रामपुर में दलित युवक की हत्या के मामले...

बसपा पूर्व विधायक गुड्डू जमाली सपा में हजारों समर्थकों के साथ शामिल

लखनऊ,(Shah Times)। समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष एवं पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने...

Latest Update

कोतवाली पुलिस ने चैकिंग के दौरान एक कार से बरामद किए 30 लाख रुपये

राजपुर रोड स्थित दिल्ली नंबर की कार को रोककर उसमे से बरामद कि नगदी इंकम...

रिलायंस शोरूम में पड़ी डकैती के वांछित को बी वारंट पर दून लाएगी पुलिस

राज्य स्थापना दिवस पर राजपुर रोड स्थित ज्वैलरी शोरूम में डाली थी 15 करोड...

दलितों की आवाज उठाने पर चंद्रशेखर आजाद को किया नजरबंद

संभल , (Shah Times ) । रामपुर में दलित युवक की हत्या के मामले...

बसपा पूर्व विधायक गुड्डू जमाली सपा में हजारों समर्थकों के साथ शामिल

लखनऊ,(Shah Times)। समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष एवं पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने...

मासिक धर्म जागरूकता में युवाओं की भागीदारी भी ज़रूरी है

कमरुन निसा (लद्दाख) मासिक धर्म, मानव अस्तित्व का एक प्राकृतिक पहलू है, जिसे अक्सर...

यामी गौतम स्टारर “आर्टिकल 370“ इस साल की पहली हिट !

मुंबई,( Shah Times) । यामी गौतम, प्रिया मणि और वैभव तत्ववादी स्टारर आर्टिकल 370...

सैफ अली खान के पिता मंसूर अली खान पटौदी क्रिकेट को लेकर देते थे यह राय

अपने पिता मंसूर अली खान पटौदी के साथ अपनी क्रिकेट की जड़ों को दर्शाते...

चेकिंग के दौरान पुलिस को मिली बड़ी कामयाबी,अफीम तस्कर गिरफ्तार

थाना बनबसा पुलिस, SOG टीम तथा SSB बनबसा टीम की संयुक्त चेकिंग के दौरान...

राशि अनुसार किस ज्योतिर्लिंग की पूजा है आपके लिए श्रेष्ठ

देवो के देव महादेव के भारत में द्वादश ज्योतिर्लिंग हैं, जिनका अपना एक विशेष...