आज सीबीआई कोर्ट में पेश होंगे हरक-हरदा

कानूनी तैयारियों में व्यस्त रहे नेता-वकील

सीबीआइ ने की है आवाज़ का नमूना लेने की मांग

स्टिंग ऑपरेशन मामलें में सीबीआई ने तेज की जांच

देहरादून। उत्तराखण्ड के बहुचर्चित स्टिंग ऑपरेशन मामलें में सीबीआई की रडार पर आए पूर्व मुख्यमंत्री हरीश रावत (Harish Rawat), पूर्व कैबिनेट मंत्री हरक सिंह रावत (Harak Singh Rawat) आज सीबीआई कोर्ट में पेश होंगे। विगते दिनों इस मामले से जुड़े चार राजनेताओं को सीबीआई ने नोटिस जारी कर 4 जुलाई को सीबीआई कोर्ट में पेश होने को कहा था, सोमवार को हरीश रावत (Harish Rawat), हरक सिंह रावत (Harak Singh Rawat), कांग्रेस विधायक मदन बिष्ट (Madan Bisht) और निर्दलीय विधायक उमेश शर्मा ओर इन के वकील कानूनी तैयारियों में व्यस्त दिखाई दिये।
विधायकों की खरीद-फरोख्त से जुड़े इस मामले में पूर्व मुख्यमंत्री हरीश रावत (Harish Rawat), पूर्व कैबिनेट मंत्री हरक सिंह रावत (Harak Singh Rawat), कांग्रेस विधायक मदन बिष्ट (Madan Bisht) और निर्दलीय विधायक उमेश शर्मा (Umesh Sharma) को सीबीआई ने नोटिस दिया है। मंगलवार को सीबीआई कोर्ट में पूर्व मुख्यमंत्री हरीश रावत (Harish Rawat) और हरक सिंह रावत (Harak Singh Rawat) को पेश होना है। इससे पहले सीबीआई ने हॉर्स ट्रेडिंग मामले में इन दोनों नेताओं समेत कुल चार लोगों को नोटिस जारी किया था। सीबीआई ने 2016 में विधायकों की खरीद-फरोख्त मामले पर एक बार फिर सक्रियता दिखाई है। इसको लेकर वॉयस सैंपल की मांग कोर्ट से की है। सीबीआई कोर्ट में वॉइस सैंपल लेने का आवेदन डालने के बाद संबंधित नेताओं को नोटिस जारी किया जा चुका है। इसके बाद अब कोर्ट में वॉइस सैंपल के लिए हरीश रावत और हरक सिंह रावत पहुंचेंगे।

दैनिक शाह टाइम्स के ई-पेपर पढने के लिए लिंक पर क्लिक करें

सीबीआई कोर्ट में पेश होने से पहले हरीश रावत और हरक सिंह रावत ) ने कानूनी जानकारों और अधिवक्ताओं से इस संबंध में चर्चा की। हरक सिंह रावत और हरीश रावत दोनों ही देहरादून में मौजूद हैं। हरक सिंह रावत करीब 11 बजे सीबीआई कोर्ट पहुंचेंगे। यह मामला 2016 का है जब उत्तराखंड के तत्कालीन मुख्यमंत्री हरीश रावत की सरकार गिराने को कांग्रेस के 9 विधायकों ने कांग्रेस छोड़कर भाजपा का दामन थाम लिया था। इस दौरान एक स्टिंग ऑपरेशन सामने आया था, जिसमें हरीश रावत विधायकों की वापसी को लेकर बातचीत करते हुए नजर आए थे। इसके अलावा एक दूसरा स्टिंग ऑपरेशन भी सार्वजनिक हुआ, जिसमें तत्कालीन कांग्रेस के विधायक मदन बिष्ट विधायकों की खरीद-फरोख्त को लेकर बात करते हुए सुनाई दिए थे, स्टींग में शामिल उमेश शर्मा को भी सीबीआई नोटिस जारी किया हुआ है।

सीबीआई कोर्ट (CBI Court) में पेश होने से पहले हरीश रावत (Harish Rawat) और हरक सिंह रावत (Harak singh Rawat) ने कानूनी जानकारों और अधिवक्ताओं से इस संबंध में चर्चा की। हरक सिंह रावत और हरीश रावत (Harish Rawat) दोनों ही देहरादून में मौजूद हैं। हरक सिंह रावत करीब 11 बजे सीबीआई कोर्ट पहुंचेंगे। यह मामला 2016 का है जब उत्तराखंड (Uttarakhand) के तत्कालीन मुख्यमंत्री हरीश रावत की सरकार गिराने को कांग्रेस के 9 विधायकों ने कांग्रेस छोड़कर भाजपा का दामन थाम लिया था। इस दौरान एक स्टिंग ऑपरेशन (Sting 0peration) सामने आया था, जिसमें हरीश रावत विधायकों की वापसी को लेकर बातचीत करते हुए नजर आए थे। इसके अलावा एक दूसरा स्टिंग ऑपरेशन भी सार्वजनिक हुआ, जिसमें तत्कालीन कांग्रेस (Congress) के विधायक मदन बिष्ट विधायकों की खरीद-फरोख्त को लेकर बात करते हुए सुनाई दिए थे, स्टींग में शामिल उमेश शर्मा को भी सीबीआई नोटिस जारी किया हुआ है।

#ShahTimes

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here