HomePoliticsगंगा जमुनी तहजीब की मिसाल थे हाजी नूरुद्दीन, हजारों नम आंखों से...

गंगा जमुनी तहजीब की मिसाल थे हाजी नूरुद्दीन, हजारों नम आंखों से दी अंतिम विदाई

Published on

नूरुउद्दीन वर्ष 2012 में सहसवान नगर पालिका अध्यक्ष पद का चुनाव लड़ा और नगर पालिका परिषद अध्यक्ष पद की कुर्सी पर विराजमान हुए

सहसवान । नगर सहसवान की राजनीति के 45 साल सफर करने के उपरांत पूर्व पालिका अध्यक्ष नूरुउद्दीन 68 वर्ष अपने शुभचिंतकों व परिचितों रिश्तेदारों तथा सांप्रदायिक सौहार्द की एक मजबूत कड़ी को छोड़कर रोता बिलखते छोड़कर हमेशा के लिए चिर निद्रा में सो गए। उनके निधन की खबर जैसे ही उनके समर्थको परिचितों रिश्तेदारों को लगी उनके घरों कूच करना प्रारंभ कर दिया। नगर में शोक की लहर दौड़ गई जिसने भी सुना जिसे भी जानकारी मिली एक बार तो लोगों को विश्वास ही नहीं रहा शायद मिलनसार सांप्रदायिक सौहार्द की एक मजबूत कड़ी उनको रोता बिलखते छोड़कर वह हमेशा के लिए ऐसी जगह चले जाएंगे जहां से दोबारा उनका आना संभव नहींI

नगर के मोहल्ला चौधरी निवासी बख्तियार उद्दीन के सबसे बड़े पुत्र नूरुउद्दीन पूर्व सांसद सलीम इकबाल शेरवानी के वर्ष 1984 में संपर्क में आए तथा राजनीति की चौखट पर प्रवेश किया उस समय कांग्रेस पार्टी का बोलबाला था। वर्ष 1988 में नूरुउद्दीन ने पहली बार राजनीति के क्षेत्र में नगर पालिका परिषद सहसवान के हरना तकिया दहलीज मिर्धा टोला रुस्तम टोला चौधरी मोहल्ला( उस समय एक ही वार्ड हुआ करता था) ने नगर पालिका परिषद में सभासद का चुनाव लड़ा था उनके मुकाबले हबीबुल्लाह ठेकेदार चुनाव लड़े।

श्री नूरुउद्दीन ने उन्हें काफी मतों से हराकर पालिका सदस्य पद का चुनाव जीत कर राजनीतिक पायदान को गति प्रदान की उसके बाद उन्होंने मोहल्ला मिर्धा टोला चौधरी मोहल्ला संयुक्त रूप से बनाए गए वार्ड में आपने भाई निहालउद्दीन को पालिका सदस्य पद पर चुनाव लड़ाया उन्हें भी काफी मतों से जीत हासिल हुई। अपने अनुज शाहाबुद्दीन को भी निर्विरोध सभासद बनाने में अहमा भुमिका अदा की। वर्ष 1995 में पू्र्व विधायक मीर मजहर अली उर्फ नन्हे मियां, के आकस्मिक निधन के उपरांत खाली हुई सहसवान विधानसभा की सीट पर उपचुनाव में नूरुउद्दीन ने सहसवान विधानसभा के चुनाव में कांग्रेस पार्टी प्रत्याशी के रूप में दूसरा चुनाव लड़ा परंतु समाजवादी लहर के चलते नूरदीन को हार का सामना करना पड़ा वर्ष 2000 में नगर पालिका परिषद अध्यक्ष पद के लिए नूरुउद्दीन पहला चुनाव लड़ा परंतु सफलता नहीं मिली।

वर्ष 2006 में भी उन्हें जब लगातार सफलता नहीं मिली। तब उन्होंने वर्ष 2012 में नगर पालिका अध्यक्ष पद का चुनाव लड़ा।जहां उन्होंने अपने निकटतम प्रतिद्वंदी मीर अफजल अली उर्फ अच्छे मियां की पत्नी निकहत जहां को भारी मतों से पराजित करते हुए नगर पालिका परिषद अध्यक्ष पद की कुर्सी पर विराजमान हुए नगर पालिका परिषद अध्यक्ष पद की कुर्सी पर विराजमान होने के उपरांत उन्होंने नगर के चौतरफा विकास के लिए कोई कसर नहीं छोड़ी जहां-जहां लोगों ने उनसे विकास कार्य करने की गुहार की उन्होंने विकास कार्य कराएIअपने अध्यक्ष पद के कार्यकाल के समय नूरुउद्दीन ने नगर पालिका परिषद प्रांगण में नूर पार्क का निर्माण कराया साथ ही साथ उन्होंने नगरपालिका परिषद से संबद्ध पन्ना लाल इंटर कॉलेज की खस्ताहाल भवन का जीर्णोद्धार कराने के साथ ही कई भवन बनवाए 2012 से 2017 तक नूरुउद्दीन द्धारा नगर में कराए गए विकास कार्यों को नगरवासी कभी नहीं भूल पाएंगे 2017 के चुनाव में तथा 2023 के चुनाव में भी उन्होंने निर्दलीय प्रत्याशी के रूप में चुनाव लड़ा परंतु उन्हें निराशा हाथ लगीI

अध्यक्ष पद के समय नूरुउद्दीन नगर पालिका परिषद अध्यक्ष पद कक्ष में बैठकर नगर की जनता इस समस्याओं को सुनते थे।तथा उनका निदान करने का पूर्ण प्रयास करते थे। अपने अध्यक्ष पद का कार्यकाल समाप्त होने के बाद भी नूरुउद्दीन जनसेवा के रूप में डार्लिंग रोड पर स्थित अपने निजी आवास पर जनता की समस्या सुना करते थे। उनके पास जो भी अपनी समस्या लेकर जाता था वह उसका निराकरण करने का हर संभव प्रयास करते थे उन्होंने नगर में कई ऐसे परिवारों को एकता की डोर में बांधने का भी प्रयास किया जिनमें दुश्मनी काफी समय से चली आ रही थी नगर में जब-जब सांप्रदायिक सौहार्द खराब करने के लिए सांप्रदायिक ताकतों ने उठाने का प्रयास किया तो उन्होंने सांप्रदायिक सौहार्द की मजबूती के लिए अकेले ही ताल ठोक दी तथा शासन-प्रशासन व नगर की जनता के बीच की कड़ी बनकर सांप्रदायिक सौहार्द को बिगड़ने से रोक दिया।

उन्होंने शासन प्रशासन के लोगों को आश्वस्त किया की सहसवान नगर की आवाम बहुत अच्छी है यह कभी भी सांप्रदायिक सौहार्द खराब नहीं हो सकता शासन प्रशासन उनके इस आश्वासन से पूरी तरीके से फेन हो जाता था नूरुउद्दीन पूर्व सांसद केंद्रीय मंत्री सलीम इकबाल शेरवानी के काफी चहेते थे बात ही नहीं खत्म नहीं होती श्री शेरवानी का साया उन पर हमेशा छाया रहा उन्होंने जब श्री शेरवानी को याद किया तब शेरवानी साहब उन्हें आशीर्वाद देने आ पहुंचेI

नूरुउद्दीन मधुर ग्रुप के चेयरमैन समाजसेवी ठाकुर योगेंद्र पाल सिंह तोमर से भी उनके संबंध एक छोटे बड़े भाई की तरह यदा-कदा उनके आवास पर राजनीतिक गुड हासिल करते रहते थेI

नूरुउद्दीन कांग्रेस पार्टी जिला अध्यक्ष ओंकार सिंह पूर्व विधायक आबिद रजा के अलावा जनपद भर के कई नेताओं से भी उनके संबंध रहे। कांग्रेस पार्टी के सक्रिय कार्यकर्ता के रूप में वर्ष 1994 में पूर्व स्वर्गीय मुख्यमंत्री एनडी तिवारी भी उनके आवास पर आए थे तथा उन्हें कई राजनीतिक गुण विरासत में दिए थे । हाजी नूरुउद्दीन की मृत्यु की खबर जैसे ही तड़के सुबह नगर सहसवान में पहुंची लोगों को विश्वास ही नहीं हुआ एक कर्मठ जुझारू सांप्रदायिक सौहार्द की मजबूत कड़ी हमारे बीच से यूं ही हमको रोते बिलखते छोड़कर उस जगह चली जाएगी जहां जाने के बाद दोबारा कोई वापस नहीं आता हैl

बरहाल नगर सहसवान की सांप्रदायिक सौहार्द की मजबूत कड़ी तथा नगर के राजनीति के एक मजबूत स्तंभ की असमय मृत्यु से पूरा नगर स्तब्ध दिखाई दे रहा है उनके द्धारा नगर में कराए गए विकास कार्य उनके द्धारा नगर में प्रतिदिन सुनी जाने वाले जनता के दर्द तथा उनके दर्द को दूर करने के अपनाए गए निर्णय नगर की जनता कभी भूल नहीं पाएगी।बीते शुक्रवार को हालत बिगड़ने पर परिजन उन्हें बरेली के एक निजी अस्पताल ले गए जहां हालत में सुधार न होने पर उन्हें दिल्ली के अपोलो अस्पताल भर्ती कराया गया ।मंगावार की सुबह करीब तीन बजे उन्होंने दम तोड़ दिया । आज असर की नमाज के बाद उनके पैतृक कब्रिस्तान में सुपुर्दे खाक कर दिया गया ।

डॉ राशिद अली खान
सहसवान बदायूं

Badayun,Sahaswan , municipal chairman ,Nooruddin, Shah Times

Latest articles

पेपर लीक करने और कराने वालों के खिलाफ़ कानून बनाया जाए

लखनऊ,(Shah Times)। कांग्रेस के पूर्व प्रदेश अध्यक्ष अजय कुमार लल्लू ने सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म...

“हम नहीं सुधरेंगे” फ़िल्म में सारे भोजपुरी हास्य कलाकार एक साथ

चाँदनी सिंह ने ऐसा सबक सिखाया तो अब लोग कहने से डरने लगे हैं...

डोनाल्ड ट्रम्प ने राष्ट्रपति पद के चुनाव में कहां से जीत हासिल की,जानिए !

  वाशिंगटन,(Shah Times) । अमेरिका के पूर्व राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प ने शनिवार को मिसौरी के...

परमेश्वर लाल सैनी सम्भल लोकसभा से भाजपा प्रत्याशी घोषित

संभल/ भूपेन्द्र सिंह (Shah Times) । तमाम अटकलो के बीच भाजपा ने अपने उम्मीदवारों...

Latest Update

पेपर लीक करने और कराने वालों के खिलाफ़ कानून बनाया जाए

लखनऊ,(Shah Times)। कांग्रेस के पूर्व प्रदेश अध्यक्ष अजय कुमार लल्लू ने सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म...

“हम नहीं सुधरेंगे” फ़िल्म में सारे भोजपुरी हास्य कलाकार एक साथ

चाँदनी सिंह ने ऐसा सबक सिखाया तो अब लोग कहने से डरने लगे हैं...

डोनाल्ड ट्रम्प ने राष्ट्रपति पद के चुनाव में कहां से जीत हासिल की,जानिए !

  वाशिंगटन,(Shah Times) । अमेरिका के पूर्व राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प ने शनिवार को मिसौरी के...

परमेश्वर लाल सैनी सम्भल लोकसभा से भाजपा प्रत्याशी घोषित

संभल/ भूपेन्द्र सिंह (Shah Times) । तमाम अटकलो के बीच भाजपा ने अपने उम्मीदवारों...

राजकीय महाविद्यालय देवभूमि उद्यमिता केंद्र में 12 दिवसीय ई डी पी कार्यक्रम

कोटद्वार,(Shah Times) । राजकीय महाविद्यालय कंवघाटी कोटद्वार देवभूमि उद्यमिता केंद्र में 12दिवसीय ई...

डॉ.संजीव बालियान को मुजफ्फरनगर से भाजपा से टिकट मिलते ही भाजपाईयों ने शिव चौक पर जश्न मनाया

केंद्रीय मंत्री डॉ.संजीव बालियान की पत्नी सुनीता बालियान, प्रदेश के मंत्री कपिल देव अग्रवाल...

भाजपा ने जारी की 195 लोकसभा उम्मीदवारों की पहली लिस्ट, उत्तराखंड में इन तीन सांसदों को मिला टिकट

नई दिल्ली/आबिद सिद्दीकी (Shah Times)।बीजेपी ने लोकसभा चुनाव के लिए 195 उम्मीदवारों की पहली...

अधिवक्ता सुनील शर्मा की मौत के बाद वकीलों ने नाराजगी जताते हुए पुलिस प्रशासन का फूंका पुतला

  हड़ताल पर गए वकील, आरोपी पुलिस कर्मियों को बर्खास्त कर जेल भेजने की कर...

आकाश को ‘‘वाई श्रेणी’’ सुरक्षा, पर्दे के पीछे भाजपा एवं बसपा के गठजोड़ की तरफ इशारा है

लखनऊ ,(Shah Times) । उप्र में राज्यसभा चुनाव में बसपा का वोट भाजपा प्रत्याशी...