वैश्विक रुख से तय होगी शेयर बाजार की चाल

मुंबई । उम्मीद से अधिक आर्थिक विकास और अमेरिका में कम बेरोजगारी से उत्साहित निवेशकों की मजबूत घरेलू खरीदारी से घरेलू शेयर बाजार पिछले सप्ताह 2.8 प्रतिशत की नई ऊंचाई पर पहुंच गया। विदेशी संस्थागत निवेशकों (FII) का रुख और वाहन बिक्री के आंकड़े अगले सप्ताह चाल तय करने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाएंगे।

पिछले सप्ताह, बीएसई का 30-शेयर बेंचमार्क सेंसेक्स 1,739.19 अंक या 2.8 प्रतिशत उछलकर सप्ताह के अंत में 64,718.56 अंक के सर्वकालिक रिकॉर्ड स्तर पर पहुंच गया। इसी तरह, नेशनल स्टॉक एक्सचेंज (एनएसई) का निफ्टी 523.55 अंक या 2.8% बढ़कर 19189.05 अंक की नई ऊंचाई पर पहुंच गया।

समीक्षाधीन सप्ताह में बीएसई की दिग्गज कंपनियों के साथ-साथ मिड और स्मॉल कैप कंपनियों में भी खूब खरीदारी और बिकवाली देखने को मिली। इसके चलते सप्ताह के अंत में मिडकैप 798.86 अंक यानी 2.9% उछलकर 28776.20 अंक पर पहुंच गया, जबकि स्मॉलकैप 611.96 अंक यानी 1.9% चढ़कर 32602.14 अंक पर पहुंच गया।

विश्लेषकों के अनुसार, चालू वित्त वर्ष की पहली तिमाही में अमेरिकी सकल घरेलू उत्पाद (GDP) की वृद्धि दर उम्मीद से बेहतर 2 प्रतिशत रही, जिससे बेरोजगारी के कारण मजबूत वैश्विक अर्थव्यवस्था की उम्मीदें बढ़ गई हैं। इसके साथ ही निवेशकों की नजर अगले सप्ताह रूस-यूक्रेन संकट और अन्य वैश्विक घटनाक्रमों पर भी रहेगी।

रुपये का प्रदर्शन, कच्चे तेल की कीमत और एफआईआई और घरेलू संस्थागत निवेशकों (डीआईआई) की खरीदारी भी अगले सप्ताह बाजार को दिशा देने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाएगी। जून में एफआईआई ने कुल 27,250.01 करोड़ रुपये की खरीदारी की। इसी तरह DII का कुल निवेश 4,458.23 करोड़ रुपये रहा

जून के लिए राष्ट्रीय वाहन बिक्री के आंकड़े अगले सप्ताह आने वाले हैं। साथ ही मई में आठ प्रमुख उद्योगों के उत्पादन, वस्तु एवं सेवा कर (जीएसटी) संग्रह पर आंकड़े जारी होने के साथ एचडीएफसी और एचडीएफसी बैंक का विलय भी अगले सप्ताह बाजार को दिशा देने में अहम भूमिका निभाएगा। हालांकि, अगले हफ्ते कीमतों में बढ़ोतरी के कारण बाजार में मुनाफावसूली की भी संभावना है. पिछले हफ्ते गुरुवार को ईद की छुट्टी के कारण बाजार में केवल चार दिन कारोबार हुआ. यूक्रेन संकट के कारण वैश्विक बाजारों में गिरावट के कारण स्थानीय बिकवाली के कारण सोमवार को सेंसेक्स 9.37 अंक फिसलकर 62,970.00 पर पहुंच गया, जबकि निफ्टी 25.70 अंक बढ़कर 18,691.20 पर पहुंच गया। वित्तीय सेवाओं, बैंकिंग और रियल्टी में घरेलू ट्रिम स्तरों के कारण मंगलवार को सेंसेक्स 446.03 अंक उछलकर 63,000 अंक के मनोवैज्ञानिक स्तर को पार कर 63,416.03 अंक पर और निफ्टी 126.20 अंक उछलकर 18,817.40 अंक पर पहुंच गया। सत्रह समूहों में खरीदारी शामिल है।

दैनिक शाह टाइम्स के ई-पेपर पढने के लिए लिंक पर क्लिक करें

घरेलू स्तर पर टाटा टेक्नोलॉजीज के IPO को सेबी की मंजूरी, चालू खाता घाटा (CAD) कम होने और एचडी एफसी और एचडीएफसी बैंक के विलय की तारीख नजदीक आने से निवेशकों की चौतरफा खरीदारी से सेंसेक्स बुधवार को 499.39 अंक तक चढ़ गया। अंतरराष्ट्रीय बाजार 63,915.42 अंक की बढ़त के साथ नई रिकॉर्ड ऊंचाई पर बंद हुआ। इसी तरह निफ्टी भी 154.70 अंक की बढ़त के साथ 18,972.10 अंक की नई ऊंचाई पर पहुंच गया।

अमेरिका में आर्थिक वृद्धि और पहली तिमाही में रोजगार वृद्धि पर उम्मीद से ज्यादा मजबूत आंकड़ों के कारण घरेलू निवेशकों ने जमकर खरीदारी की, शुक्रवार को सेंसेक्स 803.14 अंक बढ़कर 64,718.56 की नई ऊंचाई पर पहुंच गया और निफ्टी 216.95 अंक बढ़ गया। 19,189.05 रिकॉर्ड ऊंचाई पर पहुंच गया।

#ShahTimes

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here