Shah Times

HomeReligionकाशी में देव दीपावली पर पांच लाख पर्यटकों के आने की उम्मीद

काशी में देव दीपावली पर पांच लाख पर्यटकों के आने की उम्मीद

Published on

लखनऊ । अयोध्या के दीपोत्सव (Deepotsav of Ayodhya) के बाद काशी की देव दीपावली (Dev Diwali) में भी लाखों की संख्या में पर्यटकों के आने की उम्मीद है,ऐसे में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ (Yogi Adityanath) ने देव दीपावली (Dev Diwali) पर वाराणसी कमिश्नरेट पुलिस की सुरक्षा संबंधित तैयारियों की समीक्षा की है।

अधिकारियों ने मुख्यमंत्री को बताया कि इस बार देव दीपावली पर पांच लाख से ज्यादा पर्यटकों के आने का अनुमान है। इसे देखते हुए काशी को अभेद्य किला बनाने की कवायद अभी से शुरू कर दी गई है। काशी के 84 घाटों को 9 जोन, 11 सेक्टर और 32 सब सेक्टर में बांटकर सुरक्षा-व्यवस्था का पूरा खाका तैयार कर लिया गया है।

वाराणसी (Varanasi) के पुलिस कमिश्नर मुथा अशोक जैन (Mutha Ashok Jain) और जिलाधिकारी एस राजलिंगम ने बताया कि काशी में देव-दीपावली के दौरान सात घाटों पर सबसे ज्यादा भीड़ उमड़ने की संभावना है। इनमें अस्सी घाट, दशाश्वमेध घाट, अहिल्याबाई घाट, राजघाट, चेतसिंह घाट, नमो घाट और पंचगंगा घाट शामिल हैं। घाटों की सुरक्षा के लिए पहले से ही पूरा प्लान वाराणसी कमिश्नरेट पुलिस ने तैयार कर रखा है। साथ ही घाटों से लगने वाली संकरी गलियों में भी बड़े स्तर पर फोर्स का डिप्लॉयमेंट किया जाएगा।

इसके अलावा अत्यधिक भीड़ वाले घाटों पर क्विक रिस्पॉन्स टीम (QRT) की 20 टीमें तैनात रहेंगी। साथ ही 11 विशेष टीमें लाउडहेलर के साथ घाटों पर पेट्रोलिंग के लगाई जाएंगी। इतना ही नहीं काशी के 17 प्रमुख घाटों पर एंटी रोमिया स्क्वॉड की टीमें भी होंगी साथ ही साथ हर घाट पर महिला पुलिसकर्मियों की टीम भी मौजूद रहेगी। इसके अलावा 16 गोताखोरों का दस्ता नदी में डूबने से बचाव के लिए उपलब्ध रहेगा।

व्हाट्सएप पर शाह टाइम्स चैनल को फॉलो करें

मुख्यमंत्री को बताया गया कि देव दीपावली पर पर्यटकों को घाटों के दिव्य-भव्य नजारे को दिखाने के लिए गंगा में लगभग 1200 नौकाएं संचालित होंगी। इसे लेकर नाविकों के साथ पहले ही बैठक पूरी कर ली गई है और उन्हें आवश्यक दिशानिर्देश भी दे दिये गये हैं।

इसके अलावा भीड़ प्रबंधन के लिए शहर के पांच स्थानों पर मजबूत बैरिकेडिंग की जाएगी। इनमें मैदागिन, अस्सी, गोदौलिया, भदऊ चुंगी और रामापुरा में बैरिकेडिंग की जाएगी। महिलाओं की सुरक्षा के लिए 11 पिंक बूथ होंगे। वहीं 7 स्थानों राजघाट, नमोघाट, रामनगर के हनुमान मंदिर, बंगाली टोला इंटर कॉलेज, डुमराव बाग, गोदौलिया चौराहा और रामापुरा चौराहा पर इंटीग्रेटेड इमरजेंसी हेल्पडेस्क भी स्थापित किये जाएंगे। इनमें चिकित्सा, पुलिस, ट्रैफिक, फायर ब्रिगेड, संचार कर्मी और खोया पाया के लिए सहायताकर्मी भी होंगे।

इसके अलावा देव दीपावली (DevDiwali) पर काशी विश्वनाथ मंदिर के लिए भी अलग से सुरक्षा रणनीति बनाई गई है। देव दीपावली पर काशी की अभेद्य सुरक्षा के लिए एंटी टेरेरिस्ट स्क्वॉड की टीमों की भी तैनाती होगी। सादे वेश में इंटेलिजेंस के जवान भी मौजूद रहेंगे। इसके अलावा दशाश्वमेध घाट और राजघाट पर एनडीआरएफ और नगर निगम की ज्वाइंट टीमें जल एंबुलेंस के साथ मौजूद रहेंगी। साथ ही साथ जल पुलिस की पांच टीमें भी लगातार गंगा नदी में पेट्रोलिंग करती रहेंगी। इनमें ड्रैगन लाइट, लाउड हेलर, बचाव उपकरण और वायरलेस सेट की उपलब्धता रहेगी।

#ShahTimes

Latest articles

Latest Update

लोकसभा 6 मुरादाबाद से भाजपा प्रत्याशी कुँवर सर्वेश सिंह के निधन की खबर से हर कोई स्तब्ध

मुरादाबाद,(Shah Times) । लोकसभा 6 मुरादाबाद से भारतीय जनता पार्टी से प्रत्याशी और पूर्व...

अरविंद केजरीवाल की गिरफ्तारी का जवाब वोट से

नई दिल्ली/सफदर अली,(Shah Times)। आज रात 8 बजे दिल्ली में हैदराबाद सनशाइन और देल्ही...

यूपी बोर्ड हाईस्कूल और इंटरमीडिएट एग्जाम में लड़कियों का दबदबा

उत्तर प्रदेश माध्यमिक शिक्षा परिषद ने हाई स्कूल और इंटरमीडिएट बोर्ड एग्जाम के रिज़ल्ट...

अमेरिका ने पाकिस्तान को कथित आपूर्ति करने वाली तीन विदेशी संस्थाओं पर क्यों लगाया बैन ?

अमेरिका विदेश विभाग के प्रवक्ता मैथ्यू मिलर ने कहा कि यह प्रतिबंध बेलारूस स्थित...

सड़क हादसे में गठबंधन प्रत्याशी चंदन चौहान के तीन समर्थकों की मौत

मरने वालों में बीजेपी आरएलडी गठबंधन प्रत्याशी चंदन चौहान का व्यक्तिगत फोटोग्राफर बताया जा...

पुलिस ने राष्ट्रीय किसान यूनियन नेताओं को किया घर में हाउस अरेस्ट

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को ज्ञापन सौंपने की घोषणा की थी गजरौला/अमरोहा, चेतन रामकिशन (Shah Times)।...

सिंघु बॉर्डर से हटाए जा रहे सीमेंट बेरिकेडस 

हरियाणा के सिंघु बॉर्डर पर पिछले काफी समय से किसान आंदोलन पर बैठे हैं। नई...

गंगा में नहाते हुए डूबे दो युवक

मुनि की रेती क्षेत्र कौड़ियाला और पांडव पत्थर पर हादसाएसडीआरएफ की सर्चिंग में नहीं...

जनता के सवालों पर क्यों मौन हैं प्रधानमंत्री ?

आज मोदी जी मोहम्मद शामी की तारीफ भरे मंच से कर रहे हैं जबकि...
error: Content is protected !!