Shah Times

HomeReligionहज 2024 का पहला जत्था हज के लिए दिल्ली से रवाना

हज 2024 का पहला जत्था हज के लिए दिल्ली से रवाना

Published on

हज कमेटी आफ़ इंडिया के सी, ई, ओ और अल्पसंख्यक कार्य मंत्रालय, भारत सरकार के निदेशक डॉ. लियाकत अली अफाकी, आई, आर, एस ने आई जी आई हवाई अड्डे पर हजयात्रियों का स्वागत करते हूए कहा कि हज 2024 को सुविधाओं से भरपूर बनाने के लिए सभी स्तरों पर प्रयास किए गए हैं।



नई दिल्ली,(Shah Times)।हज 2024 के लिए भारतीय हजयात्रियों का दिल्ली से पहला जत्था 9 मई को सुबह 2:20 बजे सऊदी एयरलाइंस के हज चार्टर उड़ान एसवी 3767 से आईजीआई अंतर्राष्ट्रीय हवाई अड्डे के टर्मिनल 3 से रावाना हुवा, जिसमें उत्तर प्रदेश, दिल्ली और बिहार के 285 हजयात्री शामिल थे।

दिल्ली से मदीना के लिए हजयात्रियों का प्रस्थान 25 मई तक जारी रहेगा। गौरतलब है कि हज 2024 में भारत से हज कमेटी ऑफ इंडिया के माध्यम से 140,000 हजयात्री जाएंगे, जिनमें से लगभग 16,500 हजयात्री दिल्ली इम्बार्केशन पॉइंट से प्रस्थान करेंगे। जबकि सबसे अधिक करीब 35000 हजयात्री मुंबई इमबारकेशन पॉइंट से प्रस्थान करेंगे।

इस अवसर पर हज कमेटी आफ़ इंडिया के सी, ई, ओ और अल्पसंख्यक कार्य मंत्रालय, भारत सरकार के निदेशक डॉ. लियाकत अली अफाकी, आई, आर, एस ने आई जी आई हवाई अड्डे पर हजयात्रियों का स्वागत करते हूए कहा कि हज 2024 को सुविधाओं से भरपूर बनाने के लिए सभी स्तरों पर प्रयास किए गए हैं।

लेकिन तमाम कोशिशों के बावजूद भी कहीं न कहीं कोई कमी रह सकती है। आप और हम हमेशा सुनते और पढ़ते आए हैं कि हज यात्रा मुश्किले पेश आती है. डॉ. अफाकी ने हजयात्रियों से अपील की कि वे हज की सुविधा के लिए भारत सरकार के अल्पसंख्यक कार्य मंत्रालय द्वारा विकसित हज सुविधा ऐप का नियमित रूप से उपयोग करें और इसका पूरा लाभ उठाएं।

डॉ. अफ़ाक़ी ने पिछले वर्ष की तुलना में कम खर्च पर हज जाने वाले हजयात्रियों से अनुरोध किया कि वे हज में समस्याओं से सुरक्षित रहने के लिए भारत सरकार और सऊदी अरब साम्राज्य के कानूनों का पालन करें।

इस अवसर पर हज कमेटी आफ़ इंडिया के उप मुख्य कार्यकारी अधिकारी नजीम अहमद, अल्पसंख्यक कार्य मंत्रालय के उप सचिव अंकुर यादव, दिल्ली राज्य हज समिति के अधिकारी और सभी संबंधित एजेंसियों के वरिष्ठ अधिकारी उपस्थित थे।

डॉ. अफाकी ने आज दिल्ली इम्बार्केशन प्वाइंट कार्यालय स्थित हज मंजिल और हज कैंप के सभी अनुभागों का भी निरीक्षण किया और हज की सुविधाओं के लिए निर्देश दिए।

Latest articles

ऐसी कौन सी वज़ह है राष्ट्रपति इब्राहिम रईसी की मौत पर गम की जगह कुछ लोग खुशियां मना रहे हैं

राष्ट्रपति इब्राहिम रईसी की मौत पर भारत और अमेरिकी सहित कई देशों ने शौक...

तेहरान में लोगों ने मरहूम राष्ट्रपति इब्राहिम रईसी को आख़री अलविदा किया

ईरान की ऑफिशियल समाचार एजेंसी आईआरएनए ने सोमवार को इब्राहिम रईसी, अमीर-अब्दुल्लाहियान, पूर्वी अजरबैजान...

तख्तापलट की नाकाम कोशिश के बाद होगा संसदीय नेतृत्व का चुनाव

संयुक्त राष्ट्र की मानवीय एजेंसी ने कहा कि डेमोक्रेटिक रिपब्लिक ऑफ कांगो में जमीन...

चारधाम यात्रा पर आये 11 सदस्यीय दल का ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन निकला फर्जी

सीएम के निर्देश, सभी अधिकारी फील्ड पर करे कार्य, का मिलने लगा  सकारात्मक परिणाम वरिष्ठ...

Latest Update

ऐसी कौन सी वज़ह है राष्ट्रपति इब्राहिम रईसी की मौत पर गम की जगह कुछ लोग खुशियां मना रहे हैं

राष्ट्रपति इब्राहिम रईसी की मौत पर भारत और अमेरिकी सहित कई देशों ने शौक...

तेहरान में लोगों ने मरहूम राष्ट्रपति इब्राहिम रईसी को आख़री अलविदा किया

ईरान की ऑफिशियल समाचार एजेंसी आईआरएनए ने सोमवार को इब्राहिम रईसी, अमीर-अब्दुल्लाहियान, पूर्वी अजरबैजान...

तख्तापलट की नाकाम कोशिश के बाद होगा संसदीय नेतृत्व का चुनाव

संयुक्त राष्ट्र की मानवीय एजेंसी ने कहा कि डेमोक्रेटिक रिपब्लिक ऑफ कांगो में जमीन...

चारधाम यात्रा पर आये 11 सदस्यीय दल का ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन निकला फर्जी

सीएम के निर्देश, सभी अधिकारी फील्ड पर करे कार्य, का मिलने लगा  सकारात्मक परिणाम वरिष्ठ...

नफरत की ताकतों के ताबूत पर आखिरी कील ठोंकेगा यूपी

बुद्ध की नगरी- सिद्धार्थ नगर में आज कांग्रेस के राष्ट्रीय महासचिव एवं उत्तर प्रदेश...

प्रदेश कांग्रेस ने राजीव गाँधी को लेकर क्या कहा और क्यों

उत्तर प्रदेश कांग्रेस ने पार्टी मुख्यालय पर भारत रत्न पूर्व प्रधानमंत्री स्व राजीव गांधी...

सुप्रीम कोर्ट ने धारा 370 के फैसले की समीक्षा की मांग वाली याचिकाएं की ख़ारिज 

जम्मू-कश्मीर पुनर्गठन अधिनियम की संवैधानिकता पर फैसला देने से परहेज किया और जम्मू-कश्मीर की...

दिल्ली एनसीआर में धीरे-धीरे बढ़ रही है विला मालिक बनने की चाह, भारी डिमांड की यह है बड़ी वजह

भारत के लक्जरी रियल एस्टेट बाजार में 50 करोड़ रुपये और उससे अधिक कीमत...

धंस सकते हैं भारत के शहर

गर्भ जल की निकासी के ख़तरनाक परिणाम होंगे। नेचर की डिक्शनरी में क्षमा नाम...
error: Content is protected !!