HomeHealthकैंसर के मरीजों को जायदा भावनात्मक, मनोवैज्ञानिक समर्थन की जरूरत

कैंसर के मरीजों को जायदा भावनात्मक, मनोवैज्ञानिक समर्थन की जरूरत

Published on

त्रिशूर । राष्ट्रीय कैंसर नियंत्रण कार्यक्रम (NCCP) के सलाहकार डॉ. नरेश पुरोहित (Dr. Naresh Purohit) ने कहा, कैंसर रोगियों (Cancer patients) को अधिक भावनात्मक, मनोवैज्ञानिक और सामाजिक समर्थन की आवश्यकता है।
उन्होंने कहा कि पुरानी स्थिति के किसी भी चरण में रोगी को ठीक करने के लिए परामर्श और सहायता आवश्यक स्तंभ हैं।

प्रशामक देखभाल की उपलब्धता पर अपनी चिंता साझा करते हुए त्रिशूर स्थित केरल यूनिवर्सिटी ऑफ हेल्थ साइंसेज, स्कूल ऑफ पब्लिक हेल्थ के विजिटिंग प्रोफेसर डॉ. पुरोहित (Dr. Purohit) ने राष्ट्रीय कैंसर (National cancer) जागरूकता के अवसर पर सतत चिकित्सा शिक्षा (CME) कार्यक्रम को संबोधित करने के बाद यहां संवाददाताओं से कहा कि आमला इंस्टीट्यूट ऑफ मेडिकल साइंसेस त्रिशूर (Amala Institute of Medical Sciences Thrissur) द्वारा आयोजित दिवस में कहा गया कि महानगरों में अच्छी कैंसर उपचार सुविधाओं की पहुंच और उपलब्धता में सुधार के बावजूद, 60 प्रतिशत कैंसर रोगी अंतिम चरण में अस्पतालों में रिपोर्ट करते हैं, जब वे लाइलाज हो जाते हैं। उनके जीवन की गुणवत्ता और जीवित रहने की दर में सुधार करने का एकमात्र तरीका प्रारंभिक चरण में अधिकतम संख्या में रोगियों को उपशामक देखभाल उपलब्ध कराना है।

व्हाट्सएप पर शाह टाइम्स चैनल को फॉलो करें

एक महामारी विशेषज्ञ ने बताया कि वर्तमान में, लगभग 60 लाख कैंसर रोगियों (Cancer patients) को प्रशामक देखभाल की आवश्यकता है, लेकिन यह केवल दो प्रतिशत रोगियों को ही उपलब्ध है।
डॉ. नरेश पुरोहित (Dr. Naresh Purohit) ने कहा,“इसका कारण वांछित संख्या में प्रशामक देखभाल केंद्रों, प्रशिक्षित प्रशामक देखभाल विशेषज्ञों, नर्सों की अनुपलब्धता और ओपिओइड की अनुपलब्धता है जो केवल तीन प्रतिशत कैंसर रोगियों के लिए उपलब्ध है।”

उन्होंने कहा,“उपशामक देखभाल की आवश्यकता और उपलब्धता के बीच बहुत सारे अंतर हैं। अधिकांश चिकित्सा पेशेवर, चिकित्सा प्रशासक और जनता नहीं जानते कि उपशामक देखभाल क्या है।” कार्यक्रम में विशेषज्ञों ने कहा कि उपशामक देखभाल शुरू करने का सही समय वह है जब कैंसर के अंतिम चरण का सूक्ष्म निदान किया जाता है।

#ShahTimes

Latest articles

दिल्ली-देहरादून हाईवे पर खौफ़नाक हादसा, 2 की हुई दर्दनाक मौत, 15 गंभीर घायल,

मुजफ्फरनगर । दिल्ली-देहरादून हाईवे पर ट्रक और कारों की टक्कर दो की मौत 15...

पति- पत्नी ने जहर खाकर की खुदकुशी

अलवर । राजस्थान में खैरथल तिजारा जिले के झाड़का गांव में अज्ञात कारणों के...

गंगा स्नान करने जा रहे श्रद्धालुओं की ट्रैक्टर ट्रॉली तालाब में पलटी,15 की मौत

सीएम योगी आदित्यनाथ ने मृतकों के शोक संतप्त परिवारों के प्रति संवेदना व्यक्त की कासगंज...

89 साल पुराना कानून मुस्लिम विवाह और तलाक पंजीकरण अधिनियम रद्द करने फैसला

गुवाहाटी। असम सरकार ने राज्य में निवासरत मुस्लिम नागरिकों के विवाह और तलाक के...

Latest Update

दिल्ली-देहरादून हाईवे पर खौफ़नाक हादसा, 2 की हुई दर्दनाक मौत, 15 गंभीर घायल,

मुजफ्फरनगर । दिल्ली-देहरादून हाईवे पर ट्रक और कारों की टक्कर दो की मौत 15...

पति- पत्नी ने जहर खाकर की खुदकुशी

अलवर । राजस्थान में खैरथल तिजारा जिले के झाड़का गांव में अज्ञात कारणों के...

गंगा स्नान करने जा रहे श्रद्धालुओं की ट्रैक्टर ट्रॉली तालाब में पलटी,15 की मौत

सीएम योगी आदित्यनाथ ने मृतकों के शोक संतप्त परिवारों के प्रति संवेदना व्यक्त की कासगंज...

89 साल पुराना कानून मुस्लिम विवाह और तलाक पंजीकरण अधिनियम रद्द करने फैसला

गुवाहाटी। असम सरकार ने राज्य में निवासरत मुस्लिम नागरिकों के विवाह और तलाक के...

साईबर क्राइम से बचाव के लिये दून पुलिस ने चलाई जागरूकता पाठशाला

देहरादून। आज स्कूली छात्र और छात्राओं के बीच पहुचकर साइबर सेल देहरादून की टीम...

कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी का कांग्रेस जनो ने किया जोरदार स्वागत

हापुड़। कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी मुरादाबाद में भारत जोड़ो न्याय यात्रा में पहुंचने के...

Mahashivratri 2024: 8 या 9 मार्च, कब है महाशिवरात्रि? जानें तारीख, पूजन विधि और मुहूर्त

पंचांग के अनुसार इस वर्ष महाशिवरात्रि के दिन श्रवण और धनिष्ठा नक्षत्र के साथ...

जनपद के 110 केंद्रों पर शुरू हुईं यूपी बोर्ड की परीक्षाएं, विद्यार्थियों में खासा उत्साह

मुरादाबाद। पूरे प्रदेश के साथ ही मुरादाबाद जनपद में भी यूपी बोर्ड की परीक्षाएं...

आज का इतिहास: संक्रामक बीमारी टीबी की पहचान की गयी थी

24 फरवरी की महत्त्वपूर्ण घटनाएं 1510 पोप जूलियस द्वितीय ने वेनिस के गणराज्य का बहिष्कार...