Shah Times

HomeBollywood67 साल के हुए बॉलीवुड के एवरग्रीन एक्टर अनिल कपूर

67 साल के हुए बॉलीवुड के एवरग्रीन एक्टर अनिल कपूर

Published on

मुंबई । बॉलीवुड के जानेमाने अभिनेता अनिल कपूर (Anil Kapoor) आज 67 साल के हो गए। 24 दिसंबर 1959 को मुंबई के चेंबूर इलाके की छोटी सी बस्ती में जन्में अनिल कपूर (Anil Kapoor) के पिता सुरेन्द्र कपूर (Surendra Kapoor) फिल्म निर्माता थे। घर में फिल्मी माहौल में रहने के कारण वह अक्सर अपने पिता के साथ शूटिंग देखने चले जाते और अभिनेता बनने का सपना देखा करते। अनिल कपूर के पिता ने फिल्मों के प्रति उनके बढ़ते रूझान को पहचान लिया और उन्हें इस रास्तें पर चलने के लिये प्रेरित किया। अनिल कपूर (Anil Kapoor) ने अपने सिने कैरियर की शुरूआत 1979 में प्रदर्शित फिल्म ‘हमारे तुम्हारे’ से की लेकिन कमजोर पटकथा और निर्देशन के कारण फिल्म बॉक्स ऑफिस पर बुरी तरह से नकार दी गयी। वर्ष 1982 में उन्हें दिलीप कुमार (Dilip Kumar) और अमिताभ बच्चन (Amitabh Bachchan) के साथ फिल्म ‘शक्ति’ में काम करने का मौका मिला लेकिन इससे उन्हें कुछ खास फायदा नहीं पहुंचा।

1983 में अनिल कपूर (Anil Kapoor) को अपने पिता के बैनर तले बनी फिल्म ‘वो सात दिन’ में काम करने का अवसर मिला। इस फिल्म में उनके सामने कला फिल्मों के महारथी नसीरूदीन शाह (Naseeruddin Shah) थे लेकिन अनिल (Anil) अपने दमदार अभिनय से दर्शकों का दिल जीतने में सफल रहे। फिल्म की सफलता के बाद वह कुछ हद तक अपनी पहचान बनाने में सफल रहे ।

1985 मे अनिल कपूर (Anil Kapoor) को यश चोपड़ा (Yash Chopra) की फिल्म ‘मशाल’ (Mashal) में काम करने का अवसर मिला। यूं तो पूरी फिल्म अभिनेता दिलीप कुमार (Dilip Kumar) के इर्द गिर्द घूमती थी लेकिन अनिल कपूर (Anil Kapoor) ने फिल्म में अपनी छोटी सी भूमिका में दर्शकों का दिल जीत लिया। इस फिल्म में दमदार अभिनय के लिये उन्हें सहायक अभिनेता का फिल्म फेयर अवार्ड भी मिला।

1987 में प्रदर्शित फिल्म ‘मिस्टर इंडिया’ (Mr. India) अनिल कपूर (Anil Kapoor) के सिने कैरियर की सबसे कामयाब फिल्म साबित हुयी। शेखर कपूर के निर्देशन में बनी इस फिल्म में अनिल कपूर (Anil Kapoor) ने एक ऐसे युवक की भूमिका निभायी जिसे एक चमत्कारी यंत्र मिल जाता है जिसके सहारे वह गायब हो सकता है। बाद में अपने देश को बर्बादी से बचाने के लिये वह खलनायक से मुकाबला करता है और उसे हराकर विजयी बनता है।

1988 में अनिल कपूर (Anil Kapoor) के सिने कैरियर की एक और अहम फिल्म ‘तेजाब’ प्रदर्शित हुयी। एन चंद्रा के बैनर तले बनी इस फिल्म में अनिल कपूर (Anil Kapoor) ने एक सीधे सादे नौजवान की भूमिका निभायी जो देश और समाज के प्रति समर्पित है लेकिन समाज के फैले भ्रष्टाचार की वजह से वह लोगो की नजर में तेजाब बन जाता है जो सारे समाज को जलाकर खाक कर देना चाहता है। तेजाब और मिस्टर इंडिया (Mr. India) जैसी फिल्मों की सफलता के बाद उनकी तुलना अमिताभ बच्चन से होने लगी। दुष्टो की मौत बनकर तूफान की तरह रूपहले पर्दे पर आने वाले अनिल कपूर ने न सिर्फ प्रतिशोध की भावना लिये किरदार निभाये. वहीं भावुक और हास्य अभिनय कर दर्शकों को मंत्रमुग्ध कर दिया।

1989 में अनिल कपूर (Anil Kapoor) की फिल्म ‘ईश्वर’ प्रदर्शित हुयी जिसमें दर्शकों को उनके अभिनय का नया रंग देखने को मिला। पहले इस फिल्म का तेलुगू संस्करण बनाया गया था जिसमें अभिनेता कमल हासन (Kamala hasan) ने मुख्य भूमिका निभाई थी। अनिल कपूर ने इसे चुनौती के रूप में लिया और अपने भावात्मक अभिनय से दर्शकों का दिल जीत लिया। फिल्म में अपने दमदार अभिनय के लिये वह फिल्म फेयर के सवश्रेष्ठ अभिनेता के लिये नामांकित भी किये गये।

1992 में प्रदर्शित फिल्म ‘बेटा’ में अनिल कपूर (Anil Kapoor) के सिने कैरियर की सुपरहिट फिल्मों में शुमार की जाती है। इस फिल्म में अनिल कपूर (Anil Kapoor) ने एक ऐसे युवक की भूमिका निभायी जो अपनी सौतेली मां से बहुत प्यार करता है जबकि उसकी मां उससे उसे बर्बाद करने के लिये उसकी जान लेने से भी नहीं हिचकती बावजूद उसे अपनी मां पर पूरा भरोसा है। फिल्म में अनिल कपूर ने भावुक किरदार निभाकर दर्शकों का दिल जीत लिया।

2001 में अनिल कपूर (Anil Kapoor) के सिने कैरियर की एक और अहम फिल्म ‘नायक’ प्रदर्शित हुयी। फिल्म में उन्होंने एक टीवी पत्रकार की भूमिका निभायी जो एक साक्षात्कार के दौरान मुख्यमंत्री अमरीश पुरी (Amrish Puri) की पोल खोल देता है तो इसे गलत साबित करने के लिये अमरीश पुरी उसे एक दिन का मुख्यमंत्री बनने का प्रस्ताव देते है जिसे वह स्वीकार कर लेते है और देश के सामने मुख्यमंत्री के रूप में अमरीश पुरी के किये गये गलत कार्यों को बेनकाब कर देते है।

2002 में प्रदर्शित फिल्म ‘बधाई हो बधाई’ के जरिये अनिल कपूर (Anil Kapoor) ने फिल्म निर्माण के क्षेत्र में भी कदम रख दिया और इस फिल्म में अभिनय भी किया लेकिन दुर्भाग्य से फिल्म को टिकट खिडकी पर अपेक्षित सफलता नहीं मिली। इसके बाद उन्होंने माई वाइफ मर्डर गांधी माय फादर और जैसी फिल्मों का भी निर्माण किया लेकिन इस बार भी ये फिल्में टिकट खिड़की पर असफल साबित हुई।

व्हाट्सएप पर शाह टाइम्स चैनल को फॉलो करें

2009 में प्रदर्शित फिल्म ‘स्लमडॉग मिलेनियर’ अनिल कपूर अभिनीत महत्वपूर्ण फिल्मों में शामिल है। इस फिल्म के जरिये उन्होंने अंतराष्ट्रीय स्तर पर अपनी अलग पहचान बनायी। मुंबई के झोपडपट्टी के पृष्ठभूमि पर बनी इस फिल्म में अनिल कपूर (Anil Kapoor) ने सदी के महानायक अमिताभ बच्चन (Amitabh Bachchan) द्वारा ‘कौन बनेगा करोड़पति’ में निभाये गये एंकर की भूमिका को पूरी शिद्दत के साथ निभाया। उल्लेखनीय है कि इस फिल्म के जरिये संगीतकार ए आर रहमान और गीतकार गुलजार ने आस्कर जीतकर नया इतिहास रच दिया।

अनिल कपूर (Anil Kapoor) के सिने कैरियर में उनकी जोड़ी अभिनेत्री माधुरी दीक्षित (Madhuri Dixit) के साथ काफी पसंद की गयी। उनकी जोड़ी सबसे पहले 1988 में प्रदर्शित फिल्म ‘तेजाब’ में पसंद की गयी। बाद में अनिल कपूर (Anil Kapoor) और माधुरी दीक्षित की जोडी ने परिंदे, राम लखन, किशन कन्हैया, जीवन एक संघर्ष, जमाई राजा, खेल, बेटा, जिंदगी एक जुआ और राजकुमार जैसी फिल्मों में भी एक साथ काम कर दर्शकों का भरपूर मनोरंजन किया। माधुरी के अलावा अनिल कपूर (Anil Kapoor) की जोड़ी अभिनेत्री श्रीदेवी के साथ भी काफी पसंद की गयी। उनकी जोड़ी सबसे पहले 1987 में प्रदर्शित फिल्म ‘मिस्टर इंडिया’ में पसंद की गयी। इसके बाद कई फिल्मों में इस जोड़ी को फिल्मकारों ने अपनी फिल्म में काम करने का अवसर दिया। इन फिल्मों में राम अवतार, लम्हे, रूप की रानी चोरो का राजा, हीर रांझा. गुरूदेव, लाडला, मिस्टर बेचारा और जुदाई प्रमुख है।

अनिल कपूर (Anil Kapoor) को अब तक चार बार फिल्म फेयर पुरस्कार से सम्मानित किया गया है। इन सबके साथ ही 2000 में उन्हें फिल्म ‘पुकार’ के लिये उन्हें सर्वश्रेष्ठ अभिनेता के राष्ट्रीय पुरस्कार से भी सम्मानित किया गया। अनिल तीन दश्क लंबे सिने कैरियर में करीब 140 फिल्मों में काम कर चुके है।

2013 में अनिल कपूर (Anil Kapoor) ने सीरियल ‘24’ (serial ‘24’) के जरिये छोटे पर्दे का भी रूख किया है। इसके बाद अनिल कपूर (Anil Kapoor) की वेलकम बैक ,दिल धड़कने दो (Dil Dhadakne Do) जैसी कामयाब फिल्में प्रदर्शित हुई है। अनिल कपूर (Anil Kapoor) की इस वर्ष फिल्म ‘एनिमल’ (Animal) प्रदर्शित हुई। इस फिल्म में अनिल कपूर (Anil Kapoor) ने रणबीर कपूर (Ranbir Kapoor) के पिता को रोल निभाया था और अपने अभिनय से एक बार फिर से सभी का दिल जीत लिया। अनिल कपूर (Anil Kapoor) की आने वाली फिल्मों में फाइटर प्रमुख है।

#ShahTimes

Latest articles

Latest Update

लोकसभा 6 मुरादाबाद से भाजपा प्रत्याशी कुँवर सर्वेश सिंह के निधन की खबर से हर कोई स्तब्ध

मुरादाबाद,(Shah Times) । लोकसभा 6 मुरादाबाद से भारतीय जनता पार्टी से प्रत्याशी और पूर्व...

अरविंद केजरीवाल की गिरफ्तारी का जवाब वोट से

नई दिल्ली/सफदर अली,(Shah Times)। आज रात 8 बजे दिल्ली में हैदराबाद सनशाइन और देल्ही...

यूपी बोर्ड हाईस्कूल और इंटरमीडिएट एग्जाम में लड़कियों का दबदबा

उत्तर प्रदेश माध्यमिक शिक्षा परिषद ने हाई स्कूल और इंटरमीडिएट बोर्ड एग्जाम के रिज़ल्ट...

अमेरिका ने पाकिस्तान को कथित आपूर्ति करने वाली तीन विदेशी संस्थाओं पर क्यों लगाया बैन ?

अमेरिका विदेश विभाग के प्रवक्ता मैथ्यू मिलर ने कहा कि यह प्रतिबंध बेलारूस स्थित...

सड़क हादसे में गठबंधन प्रत्याशी चंदन चौहान के तीन समर्थकों की मौत

मरने वालों में बीजेपी आरएलडी गठबंधन प्रत्याशी चंदन चौहान का व्यक्तिगत फोटोग्राफर बताया जा...

पुलिस ने राष्ट्रीय किसान यूनियन नेताओं को किया घर में हाउस अरेस्ट

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को ज्ञापन सौंपने की घोषणा की थी गजरौला/अमरोहा, चेतन रामकिशन (Shah Times)।...

सिंघु बॉर्डर से हटाए जा रहे सीमेंट बेरिकेडस 

हरियाणा के सिंघु बॉर्डर पर पिछले काफी समय से किसान आंदोलन पर बैठे हैं। नई...

गंगा में नहाते हुए डूबे दो युवक

मुनि की रेती क्षेत्र कौड़ियाला और पांडव पत्थर पर हादसाएसडीआरएफ की सर्चिंग में नहीं...

जनता के सवालों पर क्यों मौन हैं प्रधानमंत्री ?

आज मोदी जी मोहम्मद शामी की तारीफ भरे मंच से कर रहे हैं जबकि...
error: Content is protected !!